राम मंदिर को लेकर योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री की दहाड़! जिससे मुस्लिमों के मची खलबली

456

नई दिल्ली : अयोध्या में ‘राम मंदिर’ के निर्माण को लेकर हर रोज कुछ न कुछ तथ्य सामने आते रहते हैं. ऐसा ही एक तथ्य उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ‘लक्ष्मी नारायण चौधरी’ ने दिया है. जिसके बाद मुस्लिमों में हडकंप मच गया है. राम मंदिर को लेकर कैबिनेट मंत्री चौधरी ने टिप्पणी की है. लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा है कि भव्य राम मंदिर अयोध्या में नहीं तो क्या न्यूयॉर्क में बनेगा? 

राम मंदिर को लेकर योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री की दहाड़! जिससे मुस्लिमों के मची खलबली
राम मंदिर

हालांकि, सोमवार (5 मार्च) को योगी सरकार में धार्मिक कार्य और संस्कृति तथा अल्पसंख्यक विभाग के कैबिनेट मंत्री ‘लक्ष्मी नारायण चौधरी’ मुस्लिम महिला सम्मेलन में शामिल हुए थे. इस सम्मलेन के दौरान कैबिनेट मंत्री चौधरी से अयोध्या विवाद पर मध्यस्था द्वारा सुलझाने के प्रयासों के बीच, समझौते के फॉर्मूले को ‘शिया पर्सनल लॉ बोर्ड’ द्वारा खारिज किए जाने पर सवाल किया गया. उन्होंने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने राम मंदिर को लेकर ये प्रतिक्रिया दी.

राम मंदिर को लेकर योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री की दहाड़! जिससे मुस्लिमों के मची खलबली
लक्ष्मी नारायण चौधरी

उन्होंने कहा है कि राम मंदिर अयोध्या में नहीं तो क्या न्यूयॉर्क में बनेगा? जिस जगह पर श्रीराम का जन्म हुआ, वहीँ पर राम मंदिर बनना चाहिए. इस देश में पैदा होने वाला हर एक हिन्दू व्यक्ति यही मानता है कि राम मंदिर अयोध्या में ही बनना चाहिए. यही बात हमने पहली भी कही थी और आगे भी यही कहते रहेंगे.

अयोध्या मामले को न्यायालय के बाहर हल करने की कोशिश

सूत्रों से जानकारी के अनुसार आपको बात दें कि ऑर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर’ अयोध्या विवाद को न्यायालय के बाहर समझौते के माध्यम से इसको हल करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसके लिए वह विभिन्न मुस्लिम व अन्य संगठनों से लगातार मुलाकात कर बातचीत कर रहे हैं.

राम मंदिर को लेकर योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री की दहाड़! जिससे मुस्लिमों के मची खलबली
श्रीश्री रविशंकर

ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड के बाहर लिए सलमान नदवी’ ने अयोध्या विवाद को लेकर श्री श्री रविशंकर से बात करते हुए राम मंदिर बनाने के लिए मुस्लिमों को जमीन छोड़ने की बात कही थी. बातचीत के दौरान उन्होंने कहा था कि शरियत में मस्जिद को शिफ्ट करने का प्रावधान है, मैं हिंदू-मुस्लिम एकता और उस मामले को हल करने को लेकर बात कर रहा हूं, मैं अयोध्या में साधुओं से भी मुलाकात कर राम मंदिर मामले को हल करने को लेकर बात करूंगा. आपको बता दें कि नदवी के इस बयान के कारण लॉ बोर्ड से निकाल दिया था.

राम मंदिर को लेकर योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री की दहाड़! जिससे मुस्लिमों के मची खलबली
सलमान नदवी

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने इस विवाद को लेकर टिप्पणी करते हुए कहा था कि, अयोध्या मामले को लेकर उसके रुख में कोई बदलाव नहीं है. साथ ही बोर्ड ने कहा था कि जब एक बार मस्जिद बनती है तो अनंत काल तक यह मस्जिद रहती है..

Loading...