इंसानों के लिए खतरनाक है ये मादा मच्छर! जिससे होती है ये जानलेवा बीमारियां

74

It is dangerous for humans, this mosquito mosquito! These are the deadly diseases (15 सितंबर, 2018) : इस बात को हम भलिभांति जानते हैं कि ‘मच्छर’ के काटने से ‘जीका वायरस, डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया’ जैसी जानलेवा बीमारियां होती हैं. इस बीमारियों को फैलाने के पीछे एक मादा मच्छर का हाथ होता है. परंतु ये बीमारियों नर मच्छर के कारण भी फैलती हैं. आइए जानते हैं इनसे जुड़ी कुछ खास बातें…
It is dangerous for humans, this mosquito mosquito! These are the deadly diseases

जानकारी के अनुसार मच्छरों का जीवनकाल बहुत ही कम समय का होता है. इसके बावजूद यह कई जानलेवा बीमारियों के जनक कहे जाते हैं. एक तरफ जहां नर मच्छर का जीवनकाल 10 दिनों का होता है वहीं एक मादा मच्छर 40-50 दिन का होता है. 

Read Also : धूम्रपान करने वालों से दूर रहें युवा! हो सकती है ये खतरनाक बीमारी…

आपको यह जानकारी बड़ा आश्चर्य होगा कि अपने पूरे जीवनकाल में सिर्फ एक बार संसर्ग बनाने वाली हर ‘मादा मच्छर’ करीब 200 से 500 अंडे तक देती है. इसके अलावा एक और हैरानी की बात यह है कि 200 से 500 अंडे देने वाली मादा मच्छर अपने जीवन में सिर्फ एक बार संबंध बनाती है. जबकि नर मच्छर एक से अधिक बार संबंध बनाता है.
It is dangerous for humans, this mosquito mosquito! These are the deadly diseases

नर और मादा मच्छरों की पहचान उनके पंखों की आवाज से की जा सकती है. साथ ही हैरानी की एक और बात यह है कि मादा मच्छर प्रति मिनट 250 से 500 बार अपने पंख फड़फड़ाती है. संबंध बनाते समय ‘नर मच्छर’ अपना स्पर्म मादा मच्छर में पास करता है. इस दौरान वह मादा मच्छर के शरीर में एक प्रोटीन भी ट्रांसफर करता है. जिसके कारण ये सभी खतरनाक बीमारियां होती हैं.

It is dangerous for humans, this mosquito mosquito! These are the deadly diseases

खास बात यह है कि संबंध बनाने के बाद नर मच्छर सिर्फ तीन से पांच दिन तक ही जीवित रहता है। मादा मच्छर से जन्म लेने वाले नए मच्छर मनुष्य के खून पर ही पलते हैं। मनुष्य के खून से ही उन्हें पोषण मिलता है। जो बाद में कई जानलेवा बीमारियों का कारण बनते हैं।

Loading...