सावन 2018 : भगवान शिव की कृपा पाने के लिए न करें ये काम! अन्यथा भगवान शिव हो जाते हैं नाराज

118

24 अगस्त, 2018 : इस बात को हम भलिभांति जानते हैं कि सावन के महीने में ‘भगवान शिव’ को मनाने का समय होता है. सावन में लड़कियां मनचाहा वर पाने के लिए ‘भगवान शिव’ के उपवास रखती हैं तो अधिकतर महिलाएं अपने वर की लंबी आयु पाने के लिए शिवलिंग पर जल चढ़ाती हैं. इसके बावजूद सावन महीने अगर कुछ सावधानियां नहीं बरती गईं तो भोलेबाबा प्रसन्न होने की जगह नाराज हो सकते हैं. आइए जानते हैं भोलेबाबा की कृपा पाने के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं चाहिए.

सावन 2018 : भगवान शिव की कृपा पाने के लिए न करें ये काम! अन्यथा भगवान शिव हो जाते हैं नाराज
भगवान शिव

भगवान शिव का जलाभिषेक

सावन के महीने में रोजाना ‘भगवान शिव’ का जलाभिषेक अवश्य करना चाहिए. ऐसा करने से व्यक्ति के कई जन्मों के पाप कम हो जाते हैं. शास्त्रों के अनुसार सावन में सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान ध्यान करके भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए. देर तक सोने से यह अवसर हाथ से निकल जाता है और ऐसे लोग शिव की कृपा से वंचित रह जाते हैं

सावन 2018 : भगवान शिव की कृपा पाने के लिए न करें ये काम! अन्यथा भगवान शिव हो जाते हैं नाराज
जलाभिषेक करना

दूध का सेवन

सावन के महीने में दूध का सेवन अच्छा नही होता है. इसलिए सावन में ‘भगवान शिव’ का ‘दूध’ से अभिषेक करने की बात कही गई है. इससे वात संबंधी दोष से दूर होता है. सावन के महीने में दिन के समय नहीं सोना चाहिए. बताया जाता है कि इस महीने बैंगन भी नहीं खाना चाहिए. बैंगन को अशुद्ध माना गया है इसलिए द्वादशी, चतुर्दशी के दिन और कार्तिक मास में भी इसे खाने की मनाही होती है.

सावन 2018 : भगवान शिव की कृपा पाने के लिए न करें ये काम! अन्यथा भगवान शिव हो जाते हैं नाराज

मांस-मदिरा 

जो लोग ‘मांस-मदिरा’ आदि मका सेवन करते हैं हैं उनको सावन के महीने में ऐसा नहीं करना चाहिए. साथ ही इस महीने में शादी जैसे शुभ काम भी नहीं किए जाते हैं बल्कि इस समय ‘ब्रह्मचर्य व्रत’ के नियमों का पालन करना चाहिए. जो भी कोई सावन में उपवास रखता है, उसको हरी सब्जियां और साग नहीं खाना चाहिए. शरीर पर तेल नहीं लगाना चाहिए और न ही कांस के बर्तन में खाना-खाना चाहिए. पूजा के समय में शिवलिंग पर हल्दी न चढ़ाएं. 

सावन 2018 : भगवान शिव की कृपा पाने के लिए न करें ये काम! अन्यथा भगवान शिव हो जाते हैं नाराज

क्रोध न करना

इस महीने में व्यक्ति को ‘क्रोध’ में आकर किसी को भी अपशब्द नहीं कहना चाहिए. साथ ही घर के बड़े बुजुर्गों का सम्मान करें. जीवनसाथी के साथ भी किसी भी तरह के विवाद और अपश्ब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. सावन के महीने में ‘भगवान शिव’ और ‘माता पार्वती’ की पूजा से दांपत्य जीवन में प्रेम और तालमेल बढ़ता है, इसलिए किसी बात से मन मुटाव की आशंका होने पर शिव पार्वती की पूजा करनी चाहिए.

सावन 2018 : भगवान शिव की कृपा पाने के लिए न करें ये काम! अन्यथा भगवान शिव हो जाते हैं नाराज
क्रोध करना

सांड 

सावन के महीने में यदि आपके घर के दरवाजे पर सांड आए तो उसे कुछ खाने के लिए दें. सांड को घर से ‘भगाना शिव’ की सावारी ‘नंदी’ का अपमान माना जाता है. सावन के महीने में शिव भक्तों का अपमान न करें. भगवान शिव के भक्तों का सम्मान शिव की सेवा के समान फलदायी होता है.

loading...