पाकिस्तान पर होगा डबल अटैक! भारत और अमेरिका के इस फैसले से होगा पाक का सफाया

121

मुंबई : “अमेरिका” के पूर्व सीनेटर ‘लैरी पेसलर’ ने ‘पाकिस्तान’ को लेकर एक चौंकाने वाला बयान दिया है. उनके इस बयान के बाद ‘पाकिस्तान’ में मातम का माहौल बना हुआ है.

 पाकिस्तान पर होगा डबल अटैक! भारत और अमेरिका के इस फैसले से होगा पाक का सफाया
लैरी प्रेसलर

 

अमेरिकी सीनेटर ‘लैरी पेसलर’ ने 25 सितम्बर को ‘अमेरिका’ और ‘भारत’ को सलाह देते हुए बताया है कि, दोनों ही देश ‘पाकिस्‍तान’ में उसके परमाणु अड्डो (जिस जगह पर परमाणु हथियार हैं या बनाये जा रहे हैं) को बर्बाद करने के लिए जोरदार आक्रमण करें.

इसके साथ-साथ उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति ‘डोनाल्ड ट्रंप’ को भारत के लिए अब तक का सबसे बेहतर अमेरिकी राष्‍ट्रपति करार दिया है क्‍योंकि ट्रंप ने अभी कुछ समय पहले आतंकियों को पनाह देने के मुद्दे को लेकर आतंकी देश ‘पाकिस्‍तान’ की कड़ी निंदा की थी.

 पाकिस्तान पर होगा डबल अटैक! भारत और अमेरिका के इस फैसले से होगा पाक का सफाया
डोनाल्ड ट्रंप

यदि इसको रोकना है तो अमेरिकी राष्ट्रपति को ‘पेंटागन’ पर कार्रवाई करनी होगी, जो हमेशा से ‘पाकिस्‍तान’ को आतंक के लिए प्रोत्‍साहित करता रहता है. इसी वजह से आतंकी देश पाकिस्तान ने ‘संयुक्त राष्ट्र’ में ‘भारत’ की निंदा की और भारत को आतंकवाद का जन्मदाता भी बताया.

कुछ समय पहले ‘डोनाल्ड ट्रंप’ ने ‘पेंटागन’ को ‘दलदल’ बताया था जो अच्‍छा सकेंत है और इससे बात को देखकर उम्‍मीद है कि, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप बहुत ही जल्द इसकी सफाई करने में सफल होंगे.

 पाकिस्तान पर होगा डबल अटैक! भारत और अमेरिका के इस फैसले से होगा पाक का सफाया
पेंटागन

जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि, अमेरिका के तीन बार सांसद रह चुके ‘लैरी प्रेसलर’ वर्ष 1990 में उस वक्त सुर्खियों में आए थे जब उनके संसोधन प्रस्ताव को लेकर अमेरिकी संसद ने अनुमति दे दी और ‘पाकिस्तान’ को दी जाने वाली अमेरिका द्वारा सहायता पर रोक लगायी. ‘लैस प्रेसलर’ सदैव से ही पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद की खिलाफ हैं.

साथ ही पूर्व सीनेटर ने इस मामले को लेकर एक किताब भी लिखी है, ‘नेबर्स इन आर्म्स’, इस किताब में उन्होंने पूरी जानकारी को पूर्ण तरीके से कहा है कि, किस तरह पाकिस्तान ने अमेरिकी द्वारा दी जाने वाली मदद का उपयोग परमाणु हथियारों को विकसित करने में किया है.

 पाकिस्तान पर होगा डबल अटैक! भारत और अमेरिका के इस फैसले से होगा पाक का सफाया
पाक परमाणु हथियार

पूर्व सीनेटर ‘लैरी प्रेसलर’ ने स्वयं इसको रिपब्‍लिकन पार्टी से बहुत दूर रखा है. वे वर्ष 2014 में स्वतंत्र तौर पर सीनेट चुनाव में खड़े हुए थे और 2016 में राष्‍ट्रपति चुनावों के लिए ‘हिलेरी क्‍लिंटन’ को समर्थन दिया था. इसके बाद भी पूर्व सीनेटर प्रेसलर को मानना चाहिए कि जिस प्रकार अमेरिकी मीडिया ट्रंप पर आरोप लगाती रही है, वे उससे कहीं बेहतर हैं.

Loading...