करवा चौथ : यह व्रत महिलाओं के लिए है विशेष! इस बार बन रहे हैं खास संयोग

40

Karwa Chauth: This fast is special for women! This time the special combination (25 अक्टूबर, 2018) : इस बात को हम भलीभांति जानते हैं कि ‘करवा चौथ’ का त्यौहार पति की लंबी उम्र के लिए रखा जाता है. सुहागिन महिलाएं इस दिन अपने पति की लम्बी उम्र की कामना करती हैं. इस बार यह व्रत शनिवार 27 अक्टूबर को मनाया जायेगा. मान्यता के अनुसार यह व्रत ‘कार्तिक कृष्ण पक्ष’ की चतुर्थी को मनाया जाता है और सुहागिन महिलाओं के लिए विशेष होता है.

करवा चौथ : यह व्रत महिलाओं के लिए है विशेष! इस बार बन रहे हैं  खास संयोग
करवा चौथ

जैसा कि हम जानते हैं इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और उनके मंगलकामना के लिए व्रत को रखती हैं. शास्त्रों के अनुसार इस बार करवा चौथ पर कई सालों के बाद कई शुभ संयोग बन रहे हैं. आपको बता दें कि इस बार के करवा चौथ पर राजयोग का शुभ मुहूर्त बन रहा है. साथ ही ‘सर्वार्थसिद्धि’ और ‘अमृतसिद्धि योग’ भी बनने जा रहे हैं. इस दिन चंद्रमा शुक्र की राशि वृष में रहेगा और गुरु की दृष्टि चंद्रमा पर होगी. ज्योतिष गणना के आधार पर कई शुभ संयोग के मेल से इस साल का करवा चौथ सौभाग्यशाली और फलदायी रहने वाला होगा. उसके अलावा पति-पत्नी के बीच में मधुर संबंध बनेंगे.

यह ही पढ़े : घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान!

शुभ मुहूर्त

करवा चौथ के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 5 बजकर 40 मिनट से 6 बजकर 50 मिनट तक रहेगा. पूजा के बाद चंद्रमा को अर्घ्य देने का समय शाम 7 बजकर 55 मिनट से 8 बजकर 19 मिनट तक होगा. इसी समय पर पूरे देश में चांद के दर्शन होंगे.

करवा चौथ : यह व्रत महिलाओं के लिए है विशेष! इस बार बन रहे हैं  खास संयोग

पूजन विधि

नारदपुराण के अनुसार महिलाएं वस्त्राभूषणों पहने हुए हो और शाम के समय से भगवान शिव-पार्वती, स्वामी कर्तिकेय, गणेश एवं चंद्रमा का विधिपूर्वक पूजन करते हुए भोजन चढ़ाएं. अर्पण के समय यह कहना चाहिए कि भगवान कपर्दी गणेश मुझ पर प्रसन्न हों और रात्रि के समय चंद्रमा का दर्शन करके यह मंत्र पढते हुए अर्घ्य दें, मंत्र है- ‘सौम्यरूप महाभाग मंत्रराज द्विजोत्तम, मम पूर्वकृतं पापं औषधीश क्षमस्व मे.’

loading...