नीरव मोदी पूरे देश को कर देता कंगाल, यदि कामयाब हो जाता उसका ये बड़ा प्लान…

164

पीएनबी में 11 हजार करोड़ का फ्रॉड करने वाले नीरव मोदी का प्लान था और भी बड़ा. बता दें कि यदि नीरव मोदी अपने इस बड़े प्लान में कामयाब हो जाते तो ये घोटाला और भी बड़ा होता.

नीरव मोदी पूरे देश को कर देता कंगाल, यदि कामयाब हो जाता उसका ये बड़ा प्लान...
नीरव मोदी image source

अभी तो केवल बैंक को ही नुकसान हुआ है, यदि नीरव मोदी के प्लान के अनुसार सब होता तो आम निवेशकों के पैसे भी नीरव मोदी अपने कब्जे में कर लेते, दरअसल, नीरव मोदी अपने कारोबार को लगातार उन्नति की ओर लेकर जा रहा था. जनवरी में पीएनबी को इस घोटाले का पता लगने और सीबीआई की जांच शुरू करने से पहले ही नीरव अपनी कंपनी का आईपीओ लाने की तैयारी में था.

फिर जाल में फसते ये शेयर बाजार 

सूत्रों के मुताबिक, नीरव मोदी अपनी कंपनी का 1000 करोड़ का आईपीओ लाने वाला था. यदि नीरव दिसंबर तक ये आईपीओ ले आता तो शेयर बाजार भी उसके इस जाल में फंस जाता.

नीरव मोदी पूरे देश को कर देता कंगाल, यदि कामयाब हो जाता उसका ये बड़ा प्लान...
आईपीओ image source

बैंक के पैसो के साथ साथ नीरव मोदी निवेशकों के पैसे भी ले उड़ता जाता, साफ़ है कि यदि शेयर बाजार नीरव के इस प्लान में फंसता तो यह घोटाला और भी बड़ा हो सकता था.

नीरव ने आईपीओ के लिए मांगी थी मंजूरी

हम आपको बता दे कि नीरव आईपीओ लाने की पूरी तैयारी में थे. उसकी फ्लैगशिप एंटरप्राइज फायरस्टार इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड ने दिसंबर 2017 में IPO के लिए शेयरहोल्डर्स की मंजूरी मांगी थी. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार 8 दिसंबर, 2017 को हुई कंपनी की एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी जनरल मीटिंग (EGM) में कंपनी का आईपीओ लाने के लिए मंजूरी मांगी गई. इसके साथ ही कंपनी का नाम बदलने का भी प्रस्ताव रखा गया था.

नीरव कंपनी का नाम भी बदल देता

नीरव मोदी ने EGM में कंपनी का नाम बदलने का प्रस्ताव रखा था. बता दें कि इस प्रस्ताव में फायरस्टार इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड का नाम बदलकर फायरस्टार इंटरनेशनल लिमिटेड करने के लिए आज्ञा मांगी गई थी.

नीरव मोदी पूरे देश को कर देता कंगाल, यदि कामयाब हो जाता उसका ये बड़ा प्लान...
पब्ल‍िक लिमिटेड कंपनी image source

इसमें कंपनी के मेमोरेंडम और आर्ट‍िकल्स ऑफ एसोसिएशन को बदलने की बात पर भी शेयरहोल्डर की सहमति मांगी गई थी. कंपनी ने अपने दिए हुए बयान में कहा था कि बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स कंपनी को पब्ल‍िक लिमिटेड कंपनी बनाना चाहते हैं. बताया गया कि इसके जरिए कंपनी बाजार से फंड इकट्ठा करना चाहती है.

पहले ही आईपीओ से जुटाए थे 495 करोड़ रुपए

कंपनी EGM के मिनट्स के अनुसार, नीरव मोदी की कंपनी ने आईपीओ लाने से पहले ही 495 करोड़ रुपए इकट्ठा कर लिए थे. इस रकम को विदेशी निवेशकों के जरिए हासिल किया गया था. इसके लिए कंपनी के 97.01 लाख इक्व‍िटी शेयर को प्राइवेट प्लेसमेंट के जरिए दिया था.

नीरव को 582 करोड़ का हुआ था मुनाफा

हम आपको बता दे कि नीरव मोदी की फायरस्टार इंटरनेशनल कंपनी की वैल्यू 6,413.89 करोड़ आंकी गई है. 31 मार्च, 2017 को खत्म हुए वित्तीय वर्ष में 582.08 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ था.

नीरव मोदी पूरे देश को कर देता कंगाल, यदि कामयाब हो जाता उसका ये बड़ा प्लान...
नीरव मोदी image source

कंपनी की बिक्री और अन्य आय 14,706.04 करोड़ रुपए थी. नीरव मोदी की कंपनी ने भारत, अमेरिका समेत लंदन, हॉन्गकॉन्ग और दुनिया के कई देशों में अपना कारोबार जमा रखा है.

loading...