अमेरिकी रिपोर्ट : मोदी सरकार में आई महंगाई में नरमी, अगस्त में RBI घटा देगा…

83

महंगाई अब गिरावट की और जा रही है और यदि मानसून नॉर्मल रहता है तो अगस्‍त में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा ब्‍याज दरों को 0.25 फीसदी घटाया जा सकता है.

अमेरिकी रिपोर्ट : मोदी सरकार में आई महंगाई में नरमी, अगस्त में RBI घटा देगा...
बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच image source

हम आपको बता दे कि ग्‍लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच (BofAML) की एक रिपोर्ट के अनुसार, महंगाई ज्यादा होने का जोखिम कम हुआ है. बता दे कि जनवरी के माह में महंगाई दर 5.1 फीसदी पर रही, जो दिसंबर मे रही ब्याज दर 5.2 फीसदी से कम है. 

 

BofAML मानता है कि टमाटर और प्‍याज के बढते दामो में कमी से फरवरी में महंगाई दर गिरकर 4.7 फीसदी हो सकती है. हम आपको बता दें कि रिजर्व बैंक द्वारा बीते 7 फरवरी को लगातार तीसरी बार पॉलिसी रेट में कोई बदलाव नहीं किया और रेपो रेट को भी 6 फीसदी पर बरकरार रखा. आरबीआई द्वारा महंगाई को ध्यान मे रखते हुए ऐसा किया. 

 

साउथवेस्‍ट मानसून को ला- नीना देगा बूस्‍ट 

BofAML के रिसर्च नोट के मुताबिक, हम उम्‍मीद करते हैं, आरबीआई की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (एमपीसी) बेस इफेक्‍ट के चलते अप्रैल-जून में महंगाई में आई तेजी को देखेगा. इसे देखने के साथ हमें उम्‍मीद है कि यदि मानसून सामान्‍य (ला-नीना की स्थिति) रहता है तो अगस्‍त में 0.25 फीसदी की कटौती आरबीआई कर सकता है. ला- नीना के चलते साउथवेस्‍ट मानसून को बूस्‍ट मिलता है.

अमेरिकी रिपोर्ट : मोदी सरकार में आई महंगाई में नरमी, अगस्त में RBI घटा देगा...
आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल image source

हम आपको बता दे कि RBI की तरफ से ब्‍याज दरों में 0.25 फीसदी कटौती करने के बाद यदि बैंक होम लोन और कार लोन पर इतना ही ब्‍याज घटाते हैं तो जानिए कस्‍टमर्स की ईएमआई पर कितना असर होने वाला है. 

 होम लोन

इंटरेस्‍ट रेट

लोन की अवधि

ईएमआई

रेट कट के बाद EMI  

25 लाख 

8.30%

20 साल 

21380 रु

20989 रु

कार लोन  

इंटरेस्‍ट रेट

लोन की अवधि

ईएमआई

रेट कट के बाद ईएमआई 

5 लाख 

9.10%

 6 साल 

9038 रु

8951 रु

         

(नोट- यह कैलकुलेशन SBI के मौजूदा कार लोन इंटरेस्‍ट 9.10% पर किया गया है।) 

 

 

MPC के बजट एलान का होगा ये असर 

रिपोर्ट के मुताबिक, बजट 2018 में मिनिमम सपोर्ट प्राइस (एमएसपी) बढ़ाने के एलान से महंगाई का असर कम हो सकता है क्‍योंकि थोक बाजार में जो कीमतें है वो पहले ही संशोधित एमएसपी से अधिक हैं. 

 

औसत महंगाई रहेगी 4.8 फीसदी  

BofAML की रिपोर्ट के मुताबिक, हम वित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए औसत महंगाई दर 4.8 फीसदी रहने की अपेक्षा कर रहे हैं. यह आरबीआई के 2-6 फीसदी तक की महंगाई दर के लक्ष्य के ही दायरे में है. आरबीआई द्वारा 2018-19 के पहले छह माह में महंगाई दर 5.1 से 5.6 फीसदी के बीच रहने का अनुमान जताया है.

Loading...