जाकिर नाइक ने अपना जुर्म छुपाने के लिए एनआईए पर लगाये बड़े आरोप

171

नई दिल्ली : देश में विवादास्पद धर्म के प्रचारक ‘जाकिर नाइक’ ने अपने आरोपों को छुपाने के लिए एनआईए पर यह आरोप लगाया है कि, वह देश में ‘आतंकवाद’ को बढ़ावा देने और ‘मनी लॉन्ड्रिंग’ के केसों में नाईक को इसलिए आरोपी बताया जा रहा है क्योंकि वो मुसलमान हैं.

जाकिर नाइक ने अपना जुर्म छुपाने के लिए एनआईए पर लगाये बड़े आरोप

“जाकिर नाईक” ने दावा करते हुए कहा है कि, मेरे भाषण जिहाद को बढ़ावा देने के लिए नहीं हैं. उनके द्वारा दिए गये सभी भाषण का एकमात्र लक्ष्य केवल शांति हैं. जाकिर नाईक द्वारा दिया गया बयान इंटरपोल के लिए है क्योंकि ‘एनआईए’ ने इंटरपोल के माध्यम से जाकिर नाइक को ‘रेड कॉर्नर’ नोटिस जारी करने के लिए कहा था.

एनआईए के घेरे में था नाइक

जुलाई 2016 में हुए आतंकी हमले के बाद ‘एनआईए’ के पकड़ में नाइक भी आया था. आतंकी हमले को अंजाम देने वाले वाले आतंकियों ने कहा था कि, ‘जाकिर नाइक’ द्वारा दिए गये भाषण से प्रेरित होकर उन्होंने इस हमले को अंजाम दिया है.

जाकिर नाइक ने अपना जुर्म छुपाने के लिए एनआईए पर लगाये बड़े आरोप

वहाबी स्कॉलर ‘जाकिर नाईक’ के विरुद्ध ‘एनआईए’ दवारा की गई मांग को लेकर ‘इंटरपोल’ की तरफ से जारी नोटिस के जवाब में जाकिर नाईक ने कहा कि उसे मुस्लिम होने के कारण से ‘भारत’ में जांच एजेंसी निशाना बना रही है.

जैसा की हमने बताया है कि, नाइक ने इंटरपोल को अपने जवाब में कहा कि भारतीय जांच एजेंसी उन्हें केवल इसलिए निशाना बना रही हैं क्योंकि वह मुस्लिम है. नाईक ने दावा किया है कि, उनके भाषण जिहाद को बढ़ावा देने वाले नहीं हैं. उनके भाषण केवल शांति के लिए हैं.

अभी-अभी में ‘मुंबई’ की एक खास अदालत ने ‘जाकिर नाईक’ को भगोड़ा एलान करके उसकी संपति को कुर्क करने का आदेश दिया था.

जाकिर नाइक ने अपना जुर्म छुपाने के लिए एनआईए पर लगाये बड़े आरोप

नाइक जुलाई 2016 में ‘ढ़ाका’ में हुए आतंकी हमले के कुछ समय बाद एनआईए के राडार में आया. जिसमें आतंकियों ने कहा था कि, उन्होंने ‘जाकिर नाइक’ के भाषण से संबोधित होकर यह हमला किया है. जिस हमले के बाद नाइक 1 जुलाई 2016 को भारत से फरार हो गया था.

जानकारी के अनुसार आपको बता देंते है कि, खुफिया एजेंसियों के मुताबिक नाइक को ‘संयुक्त अरब अमीरात’ या ‘सऊदी अरब’ और ‘मलेशिया’ या ‘इंडोनेशिया’ के में छुपाया गया है।

loading...