पटना हाईकोर्ट ने शहाबुद्दीन को दिया बड़ा झटका! कहा उम्रकैद की सजा…

146
अगस्त 30, 2017 : “राजद” के पूर्व सांसद ‘मोहम्मद शहाबुद्दीन’ को उनकी सजा को लेकर पटना उच्च न्यायालय ने बड़ा झटका दिया है. सिवान एसिड हमले का आरोपी शहाबुद्दीन को वर्ष 2004 में हुए मामले में हाईकोर्ट ने निचली अदालत में सुनवाई करते हुए उम्रकैद की सजा को बरक़रार रखा है और वह अब तिहाड़ जेल में बंद है.
 सीवान तेजाब कांड पर पटना हाईकोर्ट ने शहाबुद्दीन को दिया बड़ा झटका! कहा उम्र कैद की सजा...

ध्यान देने वाली बात यह है कि, शहाबुद्दीन सीवान कांड के मामले में फिलहाल ‘दिल्ली’ में स्थित ‘तिहाड़ जेल’ में कैद है. शहाबुद्दीन को निचली कोर्ट के माध्यम से उम्र कैद की सजा सुनायी गयी थी. न्यायालय के इस निर्णय को चुनौती देते हुए शहाबुद्दीन के वकील ने ‘पटना उच्च न्यायालय’ में इस मुद्दे को लेकर एक याचिका दायर की थी.

इससे पहले 30 जून 2017 पटना उच्च न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई के दौरान ही सजा को लेकर निर्णय संभाल कर रख लिया था. शायद आपको यद् हो कि, इस बहुचर्चित ‘तेजाब कांड’ मामले में ‘सीवान’, स्पेशल कोर्ट के न्यायाधीश द्वारा 11 दिसंबर 2015 को ही शहाबुद्दीन को उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी.

सीवान तेजाब कांड पर पटना हाईकोर्ट ने शहाबुद्दीन को दिया बड़ा झटका! कहा उम्र कैद की सजा...

बिहार के बहुचर्चित सीवान तेजाब कांड में शहाबुद्दीन की सजा पर आज पटना हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने इस मामले में आज बुधवार को सुनवाई करते हुए आरजेडी के पूर्व सांसद और बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन की उम्रकैद की सजा बरकरार रखी है।

सीवान तेजाब कांड जोकि बिहार का  बहुचर्चित मामला बना इस पर आज ‘पटना उच्च न्यायलय’ ने अपना निर्णय सुनाया है. न्यायालय ने इस मामले पर फैसला लेते हुए राजद के पूर्व सांसद और बाहुबली नेता ‘मोहम्मद शहाबुद्दीन’ की उम्रकैद की सजा आगे भी जारी रहने का आदेश दिया है.

पटना उच्च न्यायालय ने शहाबुद्दीन के साथ-साथ राजकुमार साह, मुन्ना मियां और शेख असलम को मिली हुई उम्रकैद की सजा भी बरकरार रखी है. सीवान कांड के बाहुबली और राजद के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन मुख्य दोषी है अभी वह ‘दिल्ली’ की ‘तिहाड़ जेल’ में कैद है.

सीवान तेजाब कांड पर पटना हाईकोर्ट ने शहाबुद्दीन को दिया बड़ा झटका! कहा उम्र कैद की सजा...

इस तेजाब कांड के मामले में ‘सीवान’ की ‘स्पेशल कोर्ट’ पहले ही आरोपी शहाबुद्दीन को सजा सुना चुकी है. शहाबुद्दीन के वकील ने इस मामले को चेतावनी देते हुए ‘पटना उच्च न्यायालय’ में याचिका दायर की थी, शहाबुद्दीन के वकील की याचिका को खारिज करते हुए अपना फैसला सुनाया है.

जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि, तेजाब कांड के इस मामले में ‘सीवान’ की स्पेशल कोर्ट के न्यायाधीश ने 11 दिसंबर 2015 को ही सजा सुनाई थी. तेजाब हत्याकांड में कोर्ट ने फैसला के समय मोहम्मद शहाबुद्दीन, राजकुमार साह, मुन्ना मियां और शेख असलम की उम्रकैद की सजा भी जारी रखी है.

तेजाब कांड में अपनी जान गंवाने वाले युवकों की मां ‘कलावती देवी’ ने इस मामले को लेकर 16 अगस्त 2004 को सीवान के थाने में यह केस दर्ज कराया था.

सीवान तेजाब कांड पर पटना हाईकोर्ट ने शहाबुद्दीन को दिया बड़ा झटका! कहा उम्र कैद की सजा...

यह जो वर्ष 2004 में ‘सीवान’ में तेजाब हमला हुआ था आज भी लोग इसको नहीं भूले हैं और याद करते ही रोंगटे खड़े हो जाते है. तेजाब कांड में अपहरण एवं हत्या की जानकारी सुनकर सीवान सहित पूरा ‘बिहार’ कांप उठा था. बदमाशो ने एक व्यावारी के बेटे को बंदी बनाकर तेजाब डाला उसके बाद उनके शारीर को काटने के बाद बोरे में भरकर फेंक दिया था.

loading...