अमृतसर आतंकी हमले के बाद मोदी सरकार ने सिखों के पक्ष में लिया ये धमाकेदार फैसला

321

After the terrorist attacks in Amritsar, Modi government took this blatant decision in favor of Sikhs (नई दिल्ली) : “पंजाब” के ‘अमृतसर’ में हुए आतंकी हमले के बाद ‘मोदी सरकार’ ने सिखों के पक्ष में एक अहम निर्णय लिया है. जिसके बाद लोगों में उत्साह का स्थिति बनी हुई है. सूत्रों की माने तो पाकिस्तान स्थित सिख श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर कॉरिडोर को खोला जाएगा.

अमृतसर आतंकी हमले के बाद सिखों के पक्ष में मोदी सरकार ने लिया ये धमाकेदार फैसला
नरेंद्र मोदी

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जानकारी के अनुसार कैबिनेट ने ऐतिहासिक फैसले लेते हुए ‘करतारपुर कॉरिडोर’ के निर्माण और विकास की अनुमति दे दी है. यह कॉरिडोर गुरदासपुर जिले के ‘डेरा बाबा नानक’ से अंतरराष्ट्रीय सीमा तक बनाई जाएगी. करतारपुर परियोजना आधुनिक सुविधाओं और केंद्र सरकार की फंडिंग के साथ लागू की जाएगी.

इसके आगे राजनाथ सिंह ने कहा है कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से अनुरोध है कि ‘श्री गुरू नानक देव जी’ की 550वीं जयंती को उचित तरीके से मनाएं. इसके अलावा यूनेस्को से अनुरोध किया जाएगा कि विश्व भाषाओं में श्री गुरु नानक देवजी के लेखन को प्रकाशित किया जाए. साथ ही उन्होंने कहा है कि ऐतिहासिक शहर सुल्तानपुर लोढ़ा को ‘हेरिटेज टाउन’ के रूप में विकसित किया जाएगा. 

अमृतसर आतंकी हमले के बाद सिखों के पक्ष में मोदी सरकार ने लिया ये धमाकेदार फैसला
करतारपुर साहब

गृहमंत्री ‘राजनाथ सिंह’ ने आगे कहा है कि ‘भारत सरकार’ की तरफ से स्मारक सिक्के और डाक टिकट भी जारी किए जाएंगे. ‘श्री गुरु नानक देव जी’ की 550वीं जयंती के दिन होने वाली गतिविधियों के कार्यान्वयन की मेरी अध्यक्षता वाली एक उच्चस्तरीय समिति नियमित रूप से समीक्षा और देखरेख करेगी.

यह भी पढ़े : अमृतसर हमले में पाकिस्तान का हुआ पर्दाफाश!

साथ ही इस बैठक के बाद वित्त मंत्री ‘अरुण जेटली’ मीडिया से बातचीत के दौरान कहा है कि गुरु नानक देवजी ने करतारपुर साहब में अपने जीवन के 18 साल बिताए हैं. यह भारत की सीमा से कुछ किलोमीटर अंदर पाकिस्तान सीमा में स्थित है. यहां श्रद्धालु आते हैं. भारत की सीमा पर खड़े होकर दर्शन की सुविधा है.

अमृतसर आतंकी हमले के बाद सिखों के पक्ष में मोदी सरकार ने लिया ये धमाकेदार फैसला
राजनाथ सिंह

कैबिनेट की इस बैठक ने निर्णय लिया है कि डेरा बाबा नानक जो गुरुदासपुर में है, वहां से लेकर इंटरनेशनल बॉर्डर तक एक करतारपुर कॉरिडोर बनाया जाएगा. यह कॉरिडोर ठीक उस तरह का ही होगा जैसे कोई बहुत बड़ा धार्मिक स्थल होता है.

loading...