गणतंत्र दिवस पर इस भंयकर घटना को अंजाम देने की थी साजिश! पूछताछ में हुआ ये चौंका देने वाला खुलासा…

57

Before the Republic Day the police arrested the terrorists! In question this shocking disclosure happened (नई दिल्ली) : 26 जनवरी ‘गणतंत्र दिवस’ से पहले दिल्ली पुलिस ने आतंकियों की साजिश को नाकाम कर दिया है. सूत्रों की माने तो पुलिस ने 20 जनवरी की देर रात अब्दुल लतीफ (29) को गिरफ्तार किया. जिसके बाद एक और हार्ड कोर आतंकी हिलाल अहमद भट (26) को भी गिरफ्तार किया.

गणतंत्र दिवस पर इस भंयकर साजिश को अंजाम देने की थी साजिश! पूछताछ में हुआ ये चौंका देने वाला खुलासा...

सूत्रों की माने तो दोनों ‘जैश-ए-मुहम्मद’ के प्रमुख ‘अजहर मसूद’ से प्रेरित होकर आतंकी बने थे. अब्दुल तलीफ ने एक मदरसे से चार वर्ष का मुफ्ती का कोर्स किया है. उसी दौरान वह अपने उग्र विचार सोशल मीडिया पर रखने लगा था। उसके उग्र विचार के कारण उससे कम समय में सैकड़ों लोग उससे जुड़ गए थे.

जिसके बाद सोशल मीडिया पर उसके विचार को देखकर पाकिस्तानी हैंडलर ‘अबू मौज’ ने अब्दुल लतीफ से संपर्क किया. बाद में वह उसे प्रेरित करने को आतंकी अजहर मसूद का वीडियो और ऑडियो क्लिप भेजने लगा. जब लतीफ़ पूरी तरह से गिरफ्त में आया तो उसने लतीफ को हमले के लिए टारगेट देना शुरू किया. पाक में बैठे अबू मौज ने ही दिल्ली में हमले के लिए उसे तैयार किया था. वह हथियार व अन्य जरूरत का समान भी मुहैया करा रहा था.

गणतंत्र दिवस पर इस भंयकर साजिश को अंजाम देने की थी साजिश! पूछताछ में हुआ ये चौंका देने वाला खुलासा...
अजहर मसूद

सूत्रों की माने तो जम्मू-कश्मीर के रहने वाले दोनों आतंकी ‘अब्दुल लतीफ’ और हिलाल ने दिल्ली में पांच जगहों की रेकी की थी. इनमें वीवीआइपी इलाके और भीड़भाड़ वाली इलाके शामिल हैं. ध्यान देने वाली बात यह है कि ये आतंकी गणतंत्र दिवस के मौके पर किसी भयंकर गतिविधि को अंजाम देने की साजिश में थे. उनके पास से दो हैंड ग्रेनेड, एक स्वचालित पिस्टल और 26 कारतूस बरामद हुए हैं. दोनों पाकिस्तानी आतंकी ‘अबू मौज’ के संपर्क में थे और जैश के चीफ अजहर मसूद से प्रेरित थे. इनकी गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस सहित सुरक्षा एजेंसियां इनसे जुड़े अन्य आतंकियों की तलाश में जुट गई है.

यह भी पढ़े : गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली पुलिस ने आतंकियों के मंसूबो को किया नेस्तनाबूत!

गणतंत्र दिवस पर इस भंयकर साजिश को अंजाम देने की थी साजिश! पूछताछ में हुआ ये चौंका देने वाला खुलासा...
अब्दुल लतीफ़

डीसीपी ‘प्रमोद कुमार कुशवाहा’ ने इस मामले में जानकारी देते हुए कहा है कि पुलिस आतंकी संगठन ‘लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मद व हिजबुल मुजाहिद्दीन’ के आतंकियों पर कड़ी नजर रखे हुए है. सैन्य खुफिया तंत्र ने जानकारी देते हुए कहा था कि कुछ संदिग्ध लक्ष्मी नगर स्थित एक घर में लगातार आवाजाही कर रहे हैं. जांच में पता चला कि वे जैश-ए-मुहम्मद से जुड़े हुए हैं और श्रीनगर में ग्रेनेड हमला की घटना को अंजाम दे चुके हैं. आतंकियों का अगला निशाना दिल्ली है.

पूर्वी दिल्ली में पाइन लाइन और लाजपतनगर को उड़ाने की थी साजिश

सूत्रों की माने तो गिरफ्तार दोनों आतंकियों ने पुलिस को पूछताछ के दौरान सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा है की वह दिल्ली के भीड़ भरे बाजार लाजपतनगर को निशाना बनाने की फिराक में थे. साथ ही उन्होंने कहा कि वे पूर्वी दिल्ली इलाके में गैस पाइप लाइन में ब्लास्ट भी करना चाहते थे.

गणतंत्र दिवस पर इस भंयकर साजिश को अंजाम देने की थी साजिश! पूछताछ में हुआ ये चौंका देने वाला खुलासा...

जैश-ए-मुहम्मद का जिला कमांडर है अब्दुल लतीफ़

पुलिस ने आतंकी अब्दुल लतीफ के जम्मू-कश्मीर स्थित घर से दो ग्रेनेड बरामद हुए. अब्दुल लतीफ़ जम्मू-कश्मीर के गांदरबल जिले में आतंकी संगत जैश-ए-मुहम्मद का जिला कमांडर है. सूत्रों की माने तो दोनों आतंकी पाकिस्तानी आका अबू मौज के इशारे पर काम कर रहे थे. नवंबर 2018 में मौज ने उन्हें सात ग्रेनेड दिए थे. अन्य आतंकी आकिब से उन्हें 12 ग्रेनेड, एक पिस्टल व 30 कारतूस मिले थे. ग्रेनेड जम्मू-कश्मीर के सैन्य ठिकानों व दिल्ली में प्रयुक्त किए जाने थे.

loading...