बुलंदशहर हिंसा : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत लेकर पूछताछ के दौरान जीतू ने किया ये चौंका देने वाला खुलासा…

723

Bulandshahr Violence: Jitu disclosed this staggering to the death of Inspector Subodh Kumar (बुलंदशहर) : उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में स्याना की चौकी चिंगरावठी पर हुए बवाल को लेकर एक चौंका देने वाला सच सामने आया है. इस मामले की जांच एसआईटी कर रही है. सूत्रों की माने तो इस हिंसा में स्याना इंस्पेक्टर ‘सुबोध कुमार’ की गोली लगने से मृत्यु हो गई थी.

बुलंदशहर हिंसा : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत लेकर जीतू ने किया ये चौंका देने वाला खुलासा...
सुबोध कुमार

दूसरी तरफ बुलंदशहर पुलिस ने दावा करते हुए कहा था कि फौजी ‘जितेंद्र कुमार उर्फ जीतू’ ने इंस्पेक्टर सुबोध की गोली मारकर हत्या की थी. इस मामले में ‘एसआईटी’ द्वारा जीतू को जम्मे से गिरफ्तार कर मेरठ लाया गया और पूछताछ की गई.

सूत्रों की माने तो जीतू ने पूछताछ के दौरान पहले तो खुद को बेगुनाह बताते हुए मौके पर मौजूदगी की बात से मना करता रहा, परंतु जब उसे वीडियो फुटेज व अन्य चीजें दिखाई गईं तो उसने हंगामे में शामिल होने की बात कबूल करते हुए कहा कि वह घर से श्रीनगर स्थित अपनी यूनिट जाने के लिए निकला था. परन्तु बवाल को देख कर वह रुका और अपने दोस्तों के साथ शामिल होकर केवल नारेबाजी करने लगा था. पूछताछ में वह बार बार खुद को निर्दोष बता रहा था, जब उससे फायरिंग के समय होने के बारे पूछा तो उसने कहा है वह वहां नहीं था.

बुलंदशहर हिंसा : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत लेकर जीतू ने किया ये चौंका देने वाला खुलासा...
जितेंद्र कुमार उर्फ़ जीतू

आरोपी जीतू ने पूछताछ में आगे कहा है कि जब बवाल हो रहा था तो वह दोपहर करीब 12 बजकर 50 मिनट पर वहां से चला गया था. साथ ही उसने यह भी कहा कि उसे गुलावठी से दिल्ली जाने के लिए बस पकड़नी थी. अधिकारियों ने जब इस बाबत उससे सुबूत मांगा तो 12.50 पर घटनास्थल पर मौजूदगी न हो पाने का कोई तथ्य वह नहीं दे सका. 

चौंका देने वाली बात यह है कि पूछताछ के बाद भी जीतू से यह नहीं कबूलवा सकीं कि उसने गोली मारी है. इस बीच ‘एसटीएफ’ और ‘एसआईटी’ के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए कहा है कि प्रारंभिक पूछताछ के दौरान जीतू ने प्रदर्शन के दौरान घटना स्थल पर होने की बात को स्वीकार किया है और जांच में भी इस तथ्य की पुष्टि हुई है. दूसरी तरफ इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारने के मामले में जीतू वहां मौजूद न होने की बात कह रहा है. सूत्रों का कहना है कि जांच एजेंसियां भी प्रारंभिक जांच में जीतू द्वारा इंस्पेक्टर को गोली मारे जाने की पुष्टि नहीं कर रही हैं. गोली किसने मारी है, अभी इसकी जांच की जा रही है.

बुलंदशहर हिंसा : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत लेकर जीतू ने किया ये चौंका देने वाला खुलासा...

इस मामले में लखनऊ एसटीएफ एसएसपी ‘अभिषेक सिंह’ ने कहा है कि बुलंदशहर की घटना में फौजी जीतू उर्फ जितेंद्र ने यह बात कबूली है कि जब पुलिस चौकी पर भीड़ एकत्र हो रही थी तो वह मौके पर मौजूद था. इसके अलावा जो अन्य आरोप हैं उनकी जांच की जा रही है. ‘राष्ट्रीय राइफल 22’ की यूनिट ने टीम गठित कर उसे हैंडओवर किया है. सूत्रों की माने तो जीतू वहां पर भीड़ में शामिल था. इसके अलावा जीतू ने पूछताछ में कहा है कि गांव के अन्य लोग वहां गए थे तो वह भी गया था.

यह भी पढ़े : बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या करने वाले शख्स को एसटीएफ ने जम्मू में दबोचा…

दूसरी तरफ अब पुलिस जीतू की सीडीआर औैर लोकेशन निकलवा कर छानबीन करेगी. इस जांच के बाद यह साफ हो सकेगा कि घटना के वक्त उसके मोबाइल फोन के आधार पर लोकेशन किस जगह की है.

बुलंदशहर हिंसा : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत लेकर जीतू ने किया ये चौंका देने वाला खुलासा...

ध्यान देने वाली बात यह है कि इस जांच से बाद पुलिस जीतू के मोबाइल फोन की फॉरेंसिक जांच भी कराने की तैयारी कर रही है, जिससे यह सामने आएगा कि अगर जीतू ने कुछ भी फोन से डिलीट किया है तो वह मिल जायेगा. 

loading...