इमरान सरकार का ट्रंप प्रशासन को करारा जवाब! कहा- पाकिस्तान पर नहीं चलेगी अमेरिका…

285

इस्लामाबाद : अभी-अभी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ‘इमरान खान’ ने अमेरिका को लेकर एक हैरान कर देने वाला बयान दिया है, जिसके बाद अमेरिका थोड़ा परेशान है. सूत्रों की माने तो उन्होंने कहा है कि अब उनकी सरकार ‘ट्रंप प्रशासन’ की किसी भी तरह की एकतरफा मांगों को नहीं मानेगी. अमेरिकी विदेश मंत्री ‘माइक पोम्पिओ’ के पाकी दौरे पर आने से पहले मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. 

Imran government's reply to trump administration! Said - America's arbitrary will not work on Pakistan
इमरान खान

अमेरिका द्वारा दी जाने वाली राशि से अपनी अर्थव्यवस्था चलाने वाला पाकिस्तान अब इमरान खान के नेतृत्व में थोड़ा अलग दिखाई दे रहा है. सूत्रों की माने तो अमेरिकी विदेश मंत्री ‘माइक पोम्पिओ’ ने जब इमरान खान को प्रधानमंत्री बनने की बधाई दी, तो ‘आतंकवाद’ के मुद्दे को लेकर दोनों देशों के बीच विवाद हो गया. ध्यान देने वाली बात यह है कि माइक पोम्पिओ खुद पाकिस्तान के दौरे पर जाने वाले हैं, तो इमरान खान ने एक और सख्त बयान दिया है.

Imran government's reply to trump administration! Said - America's arbitrary will not work on Pakistan
माइक पोम्पियो

अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पिओ के दौरे को लेकर पीएम खान ने कहा है कि उनकी सरकार ‘ट्रंप प्रशासन’ की एकतरफा मांगों को नहीं मानेगी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार 31 अगस्त को को पीएम आवास पर मीडिया से बातचीत के दौरान इमरान खान ने पारस्परिक सम्मान के आधार पर अमेरिका के साथ द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने की उनकी प्रशासन की नीति को दोहराया.

Read Also : आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान ने अमेरिका को दी ये चेतावनी

सूत्रों की माने तो भारत-अमेरिका के बीच पहली 2+2 वार्ता 6 सितंबर से शुरू होने वाली है. इस बैठक से पहले 5 सितंबर को माइक पोम्पिओ पाकिस्तान के दौरे जाने वाले हैं. 

Imran government's reply to trump administration! Said - America's arbitrary will not work on Pakistan
डोनाल्ड ट्रंप

यूएनजीए सत्र में भी शामिल नहीं लेंगे इमरान खान

सूत्रों के अनुसार अगले महीने संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में प्रधानमंत्री इमरान खान शामिल नहीं होंगे, क्योंकि वह देश में कुछ आवश्यक कार्यों में व्यस्त हैं. विदेश मंत्री ‘शाह महमूद कुरैशी’ ने कहा कि सितम्बर में होने वाले 73वें संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में प्रधानमंत्री खान की गैर मौजूदगी में वह पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे. 28 अगस्त को विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा था कि पीएम खान अपनी नई सरकार पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं और उनका मानना है कि देश की वर्तमान स्थिति पर ध्यान देने की जरूरत है जिसमें आर्थिक स्थिति भी शामिल है.

Imran government's reply to trump administration! Said - America's arbitrary will not work on Pakistan
शाह महमूद कुरैशी

सूत्रों का हवाला देते हुए स्थानीय मीडिया ने खबर दी है कि हाल में विदेश मंत्रालय की बैठक के दौरान खान ने यूएनजीए सत्र में हिस्सा नहीं लेने के संकेत दिए थे. उन्होंने कुरैशी को निर्देश दिए कि आगामी संयुक्त राष्ट्र सत्र के लिए वह तैयारी करें.

loading...