1984 सिख कत्लेआम और कश्मीरी हिन्दुओं को लेकर मनजिंदर सिंह सिरसा का कांग्रस पर हल्ला बोल!

180

नई दिल्ली : जैसा कि हम जानते हैं कि एक्टर ‘सलमान खान’ को काला हिरन को मरने के आरोप में 5 साल की सजा सुनाई है. इसको लेकर दिल्ली के विधायक ‘मनजिंदर सिंह सिरसा’ ने कहा है कि वैसे तो देश में कानून का राज है, परंतु हमारे सिस्टम से ये कानून इतना धीरे कार्य करता है कि जिसको लेकर जितना कहा जाये उतना ही कम है. इसके आगे सिरसा ने कहा है कि एक्टर सलमान खान को 20 साल बाद हिरन के क़त्ल के मामले में सजा मिली है.

1984 सिख कत्लेआम और कश्मीरी हिन्दुओं को लेकर मनजिंदर सिंह सिरसा का कांग्रस पर हल्ला बोल!
मनजिंदर सिंह सिरसा

साथ ही सिरसा ने कहा है कि चलिए सजा तो मिली परंतु वर्तमान समय में देश में बहुत से मामले ऐसे हैं कि जिनमें अबतक कोई न्याय नहीं हुआ है. कई गुनाहगारों को सजा नहीं मिली है और इस तरह के दो मामले बहुत ही जल्द जहन में आते हैं एक तो 1984 में सिखों का कत्लेआम और 1989-90 के बाद कश्मीरी हिन्दुओं पर अत्याचार आदि. 

काला हिरन को मारने के आरोप में ‘सलमान खान’ को 20 साल बाद सजा मिल गयी परंतु कश्मीरी हिन्दुओं और 1984 के सिखों को न्याय नहीं मिला इस मामले से जुड़े गुनाहगारों को आज तक कोई सजा नहीं मिली. इसी मामले को लेकर विधायक ‘मनजिंदर सिंह सिरसा’ ने भी दुःख भरा कटाक्ष किया है. 

1984 सिख कत्लेआम और कश्मीरी हिन्दुओं को लेकर मनजिंदर सिंह सिरसा का कांग्रस पर हल्ला बोल!
सलमान खान

इसके आगे उन्होंने अपने बयान में कहा है कि अब उन गुनाहगारों कांग्रेस नेताओं को कब सजा मिलेगी जिन्होंने हजारों बेगुनाह सिखों का क़त्ल किया है. साथ ही सिरसा ने कहा है कि साल 1984 में हजारों सिखों का दिल्ली में क़त्ल कर दिया था. इसके आगे सिरसा ने कहा है कि कांग्रेस के नेताओं ने ‘राजीव गाँधी’ की सहमती से उन मासूमों को क़त्ल किया था. आज इस घटना को 34 साल बीत गए हैं परंतु अभी तक कोई भी न्याय नहीं हुआ है. इस घटना में शामिल कई कांग्रेसी नेता तो पहले ही मर चुके हैं, जिनको कभी सजा नहीं हुई और जो अभी जिंदा हैं वो आज भी मजे से घूम रहे है. 

1984 सिख कत्लेआम और कश्मीरी हिन्दुओं को लेकर मनजिंदर सिंह सिरसा का कांग्रस पर हल्ला बोल!
राजीव गांधी

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आपको यद्आ दिला देते हैं कि सिखों के कत्लेआम का समर्थन करते हुए राजीव गाँधी ने तो यहाँ तक कहा था कि कत्लेआम हुआ तो ऐसा क्या हुआ जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो हलचल मचती ही है और इसी ‘राजीव गाँधी’ को ‘भारत रत्न’ भी मिला हुआ है

loading...