मोदी सरकार की धमाकेदार कार्रवाही के बाद कर्नाटक सरकार को लेकर हुआ अब तक का सबसे बड़ा खुलासा!

328

14 मार्च. 2018 : अभी-अभी कर्नाटक के मुख्यमंत्री ‘सिद्धरमैया’ और कांग्रेस सरकार को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है, इस खुलासे के बाद देशभर में हलचल पैदा हो गई है. जानकारी के अनुसार पता चला है कि कई बड़ी गलतियों के कारण कर्नाटक से कांग्रेस की सरकार पिछड़टी हुई दिखाई दे रही है. कांग्रेस एक और स्वयं ही भरष्टाचार के मामलों को लेकर अपने ही पैरों में कुल्हाड़ी मर रही है. 

मोदी सरकार की धमाकेदार कार्रवाही के बाद कर्नाटक सरकार लेकर हुआ अब तक का सबसे बड़ा खुलासा!
सिद्धरमैया

उधर दूसरी तरफ कर्नाटक के मुख्यमंत्री ‘सिद्धरमैया’ की अतिप्रशंसा पार्टी में ही अपने नेताओं के बीच खिचांव बढ़ा रही है. सूत्रों के जानकारी के अनुसार कांग्रेस अध्यक्ष ‘राहुल गांधी’ की तरफ से प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ के सामने ‘सिद्धरमैया’ को खड़ा करने के प्रयास को बहुत ही खतरनाक माना जा रहा है. अंत में भाजपा सरकार कांग्रेस की इन बड़ी चूकों का क्या लाभ उठाती है यह तो आगे देखने के बाद ही पता चलेगा. परंतु यह साफ है कि कांग्रेस ने अपनी नाव में जरूर छेद कर दिया है.

मोदी सरकार की धमाकेदार कार्रवाही के बाद कर्नाटक सरकार लेकर हुआ अब तक का सबसे बड़ा खुलासा!
नरेंद्र मोदी

कांग्रेस में भ्रष्टाचारियों को किया शामिल 

“राहुल गांधी” ने एक महीने पहले बेल्लारी में जिस मंच से ‘मोदी सरकार’ को लेकर हमला करते हुए लोकपाल न लाने को लेकर बड़ा सवाल उठाया था. उसके बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने इसी मंच से ‘माइनिंग स्कैम’ के आरोप में जेल में रह चुके ‘आनंद सिंह’ व ‘नागेंद्र’ को पार्टी में शामिल करा लिया.बात यहीं समाप्त नहीं होती इसके बाद वह पत्रकारों के सवालों पर वह यह कहने में जरा भी नहीं हिचकिचाए कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल की अनुमति के बाद ही इन दोनों को पार्टी में शामिल किया गया है.

मोदी सरकार की धमाकेदार कार्रवाही के बाद कर्नाटक सरकार लेकर हुआ अब तक का सबसे बड़ा खुलासा!
राहुल गांधी

जानकारी के अनुसार सबसे हैरान कर देने वाली घटना यह है कि यह घटना उस समय हुई जब कुछ दिन पहले ‘सिद्धरमैया’ विवादित व्यापारी और करोड़ों रुपये के जमीन घोटाले के आरोपी ‘अशोक खेनी’ को भी कांग्रेस में लेकर आ गये. हैरानी की बात यह है कि स्वयं सिद्धरमैया सरकार की एक समिति ने आरोपी खेमी को जांच में दोषी करार दिया था और ‘सीबीआइ’‘र्इडी’ जांच का सुझाव दिया था.

loading...