अमृतसर हमले में पाकिस्तान का हुआ पर्दाफाश! सामने आया ये चौंका देने वाला सच

37

Pakistan busted in Amritsar attack! This shocking truth came out (चंडीगढ़ : रविवार 18 नवंबर को ‘पंजाब’ के अमृतसर में हुए आतंकी हमले को लेकर एक चौंका देने वाला सच सामने आया है. जिसके बाद ‘पाकिस्तान’ की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. सूत्रों की माने तो बुधवार 21 नवंबर को राज्य के मुख्यमंत्री ‘कैप्टन अमरिंदर सिंह’ ने कहा है कि अमृतसर हमले को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ‘आईएसआई’ ने अंजाम दिया.

अमृतसर हमले में पाकिस्तान का हुआ पर्दाफाश! सामने आया ये चौंका देने वाला सच
कैप्टन अमरिंदर सिंह

इसके आगे मुख्यमंत्री सिंह ने कहा है कि जिस ग्रेनेड से हमला हुआ वह भी ‘मेड इन पाकिस्तान’ था. बता दें कि अमृतसर में ‘निरंकारी मिशन’ के कार्यक्रम में हुए ग्रेनेड विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई थी और दर्जनों लोग घायल हुए थे. साथ ही उन्होंने कहा है कि इसमें कोई सांप्रदायिक पहलू नहीं है. यह साफ-साफ आतंकवाद का मुद्दा है. आतंकियों ने निशाना इसलिए बनाया गया, क्योंकि वे आसान निशाना थे. हमें अतीत में अन्य संगठनों को निशाना बनाए जाने की सूचनाएं मिली थीं, लेकिन एहतियाती कदम उठाकर उन्हें रोक लिया गया था.

ध्यान देने वाली बात यह है कि पंजाब पुलिस ने इस हमले में शामिल दो आरोपियों में से एक को गिरफ़्तार कर लिया है. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने आगे कहा है कि दूसरा आरोपी भी जल्द ही पकड़ा जाएगा. उनका कहना है कि ये पूरी तरह से आतंकवादी हमला था. उन्होंने यह भी कहा है कि ये आतंकी सिर्फ मोहरे थे. इनका मास्टरमाइंड पाकिस्तान में छिपा बैठा है. जिसको ‘आईएसआई’ ऑपरेट कर रही है.

अमृतसर हमले में पाकिस्तान का हुआ पर्दाफाश! सामने आया ये चौंका देने वाला सच

सूत्रों की मामे तो रविवार 18 नवंबर की रात ‘राष्ट्रिय जांच एजेंसी’ (एनआईए) की एक टीम जांचकर्ताओं और विस्फोटक विशेषज्ञों के साथ मौके पर गई थी. वहां पहुंचकर टीम ने पंजाब पुलिस के शीर्ष अधिकारियों के साथ भी चर्चा की. इस हमले को लेकर मुख्यमंत्री सिंह ने कहा था कि इस हमले की तुलना 1978 के निरंकारी संघर्ष के साथ नहीं जा सकती, क्योंकि वह एक धार्मिक मामला था और यह हमला पूरी तरह से आतंकवादी हमला है. आपको याद दिला दें कि 13 अप्रैल 1978 को ‘अमृतसर’ में ‘संत निरंकारी मिशन’ और सिखों के बीच हुई हिंसा में 13 लोगों की मौत हो गई थी.

थ भी पढ़े : अमृतसर हमले को लेकर आप नेता फूलका ने सेना प्रमुख पर दिया देशद्रोही बयान!

आपको बता दें कि इस हमले में घायल लोगों से मिलने के लिए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह अस्पताल गए और मारे गए लोगों के परिजनों के लिए नौकरियों और घायलों के मुफ्त उपचार तथा 50,000 रुपये की सहायता का ऐलान किया था.

अमृतसर हमले में पाकिस्तान का हुआ पर्दाफाश! सामने आया ये चौंका देने वाला सच
एनआईए

सूत्रों के अनुसार ‘संत निरंकारी मिशन’ ने एक बयान में कहा था कि संत निरंकारी मंडल इस घटना में सभी प्रभावित भाइयों और बहनों के साथ हर संभव तरीके से खड़े होने का वादा करता है. संत निरंकारी मंडल की कार्यकारी समिति के सदस्यों की एक टीम मृतकों और घायल श्रद्धालुओं के परिवारों से मुलाकात कर रही है.

loading...