आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान ने अमेरिका को दी ये चेतावनी! कहा- पहले अमेरिका ठीक करें अपना…

331

पाकिस्तान : अभी-अभी ‘पाकिस्तान’ से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. जिसके बाद विश्वभर में हलचल पैदा हो गई है. सूत्रों की माने तो एक असमान्य कदम उठाते हुए ‘पाकिस्तान’ ने ‘अमेरिका’ से कहा है कि वह तुरंत अपने विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किए बयान को सुधारे. अमेरिकी विदेश मंत्री ‘माइक पॉम्पियो’ ने बयान में पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री ‘इमरान खान’ से उनके देश में चल रहे आतंकी संगठनों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करने के लिए कहा है.

आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान ने अमेरिका को दी ये चेतावनी! कहा- पहले अमेरिका ठीक करें अपना...
माइक पॉम्पियो

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ‘हीथर नोर्ट’ ने बयान देते हुए कहा है कि पॉम्पियो ने पीएम इमरान से बातचीत के दौरान पाकिस्तान को अपने क्षेत्र में चल रहे सभी आतंकियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करने को लेकर अधिक जोर दिया और अफगान की शांति प्रक्रिया में अहम भूमिका अदा करनी चाहिए.

दरअसल पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पॉम्पियों ने पीएम इमरान को बधाई देते हुए दूसरे मुद्दों पर बात की और पाकिस्तान में चल रहे आतंकवाद का कोई जिक्र नहीं हुआ.

आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान ने अमेरिका को दी ये चेतावनी! कहा- पहले अमेरिका ठीक करें अपना...
हीथर नोर्ट

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ‘मोहम्मद फैजल’ ने आगे कहा है कि प्रधानमंत्री ‘इमरान खान’ और मंत्री ‘माइक पॉम्पियो’ के बीच फोन पर हुई बातचीत के बाद अमेरिकी विभाग द्वारा जारी किए तथ्यात्मक रूप से गलत बयान पर आपत्ति जताता है।’

आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान ने अमेरिका को दी ये चेतावनी! कहा- पहले अमेरिका ठीक करें अपना...
इमरान खान

इसके आगे ‘मोहम्मद फैजल’ ने ट्विटर करते हुए लिखा है कि ‘पाकिस्तान में चल रहे आतंकवादियों को लेकर बातचीत में कोई उल्लेख नहीं था। इसे तुरंत सही किया जाना चाहिए.’

पाक मीडिया के अनुसार सितंबर के पहले हफ्ते में अमेरिकी विदेश मंत्री पॉम्पियो इस्लामाबाद की यात्रा पर आ सकते हैं. यहां आकर वह नवनिर्वाचित पीएम इमरान से मुलाकात कर बातचीत करेंगे. सूत्रों की माने तो पाकिस्तान और अमेरिका के बीच रिश्ते सामान्य नहीं है.

आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान ने अमेरिका को दी ये चेतावनी! कहा- पहले अमेरिका ठीक करें अपना...
मोहम्मद फैजल

जानकारी के अनुसार आपको याद दिला दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति ‘डोनाल्ड ट्रंप’ ने जनवरी में ‘इस्लामाबाद’ पर झूठ बोलने और धोखा देने के अलावा आतंकवाद को सुरक्षित पनाह देने का आरोप लगाया था. अमेरिकी कांग्रेस ने एक बिल पास किया. जिसमें पाकिस्तान की सैन्य सहायता राशि को प्रति वर्ष एक बिलियन से घटाकर डॉलर 150 मिलियन कर दिया था.

loading...