हाफिज सईद को लेकर पूरी दुनिया के सामने खुली पाकिस्तान की पोल! बोला ये चौंका देने वाला झूठ…

233

Pakistan’s lie came out of the Hafiz Saeed! Which is being condemned in the world (पाकिस्तान) : अभी-अभी ‘पाकिस्तान’ से एक चौंकाने वाली खबर आई है. जिसके बाद पाकिस्तान की दुनियाभर में कड़ी निंदा हो रही है. सूत्रों की माने तो ‘मुंबई हमले’ (26/11) के मास्टरमाइंड ‘हाफिज सईद’ के आतंकी संगठनों ‘जमात-उद-दावा’ और ‘फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन’ पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा को लेकर पाकिस्तान बेनकाब हो गया है.

हाफिज सईद के ठिकानों को लेकर दुनिया के पाकिस्तान का सामने आया घिनौना चेहरा...
हाफिज सईद

ध्यान देने वाली बात यह है कि पाकिस्तान ने हाफिज सईद के इन संगठनों को कोई पाबंदी नहीं लगाई है. बल्कि दोनों आतंकी संगठन केवल निगरानी सूची में हैं. इस झूठ के सामने आने के बाद सोमवार 4 मार्च को पाकिस्तान की ‘इमरान सरकार’ ने एक नई चाल चलते हुए ‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद’ (यूएनएससी) द्वारा बैन किए गए संगठनों की संपत्ति जब्त करने का आदेश जारी कर दिया है. 

सूत्रों की माने तो हाफिज सईद के आतंकी संगठन ‘पाक सरकार’ की वेबसाइट ‘नेशनल काउंटर टेररिज्म अथॉरिटी’ के अनुसार केवल आंतरिक मामलों के मंत्रालय की निगरानी सूची में हैं. हाफिज के इन संगठनों को जनवरी 2017 में निगरानी सूची में डाला गया था. 

हाफिज सईद के ठिकानों को लेकर दुनिया के पाकिस्तान का सामने आया घिनौना चेहरा...
(यूएनएससी)

आतंकी संगठनों पर कार्रवाई के लिए जबरदस्त वैश्विक दबाव के बाद 21 फरवरी को पाकिस्तान सरकार ने कहा था कि उसने जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन पर प्रतिबंध लगा दिया है.

यह भी पढ़े : हाफिज सईद को लेकर लाहौर हाई कोर्ट ने लगाई पाक सरकार को कड़ी फटकार!

इस बीच सोमवार 4 मार्च को पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ‘मोहम्मद फैसल’ ने जानकारी देते हुए कहा कि ‘इमरान सरकार’ ने यूएनएससी अधिनियम, 1948 के तहत यूएनएससी (धन-संपत्ति पर रोक और जब्ती) आदेश, 2019 जारी किया है. इसका उद्देश्य आतंकवादी घोषित व्यक्तियों और संगठनों के खिलाफ सुरक्षा परिषद प्रतिबंधों को लागू करने की प्रक्रिया सुचारू बनाना है.

हाफिज सईद के ठिकानों को लेकर दुनिया के पाकिस्तान का सामने आया घिनौना चेहरा...
इमरान खान और मोहम्मद फैसल

पाक के एक अखबार ने कहा कि पाकिस्तान को नए कानून से प्रतिबंधित आतंकी संगठनों और व्यक्तियों की संपत्ति जब्त करने और यूएनएससी के प्रति दायित्वों को पूरा करने में सहायता मिलेगी.

देंखे विडियो…

loading...