VIDEO: रेप केस में जमानत पर आए जमील, महबूब, फिरोज सहित 6 ने पीड़िता की माँ को सबके सामने मार डाला

44

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के कानपुर से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है, जहाँ एक नाबालिग से रेप की कोशिश की जाती है। जब पीड़िता की माँ इसके लिए पुलिस में बयान दर्ज करने के अपने फैसले से पीछे नहीं हटती है, तो उन्हें सबके सामने बेरहमी से मारा जाता है, इतना मारा जाता है कि वो मर जाती हैं। आरोपितों के नाम भी जान लीजिए – आबिद, मिंटू, महबूब, चाँद बाबू, जमील और फिरोज।

बता दें कि नाबालिग से बलात्कार का यह मामला 2018 का है। तब इन आरोपितों ने दिन-दहाड़े 13 साल की लड़की को अगवा कर लिया था और उसके साथ रेप की कोशिश की थी। पुलिस ने इस मामले में महबूब समेत उसके पाँच साथियों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया था। इनमें आबिद, मिंटू, महबूब, चाँद बाबू, जमील और फिरोज शामिल हैं। हाल ही में आरोपितों को ज़मानत मिली थी। पुलिस के अनुसार, रिहा होते ही 9 जनवरी को ये सारे आरोपित पीड़िता के घर में जबरन घुसे और फिर उन पर केस वापस लेने का दबाव बनाया।

पीड़िता की माँ बलात्कार के प्रयास मामले में मुख्य गवाह थीं। पीड़िता की माँ ने जब केस वापस लेने से इनकार कर दिया तो बबलू, मिंटू और महबूब समेत आधा दर्जन लोगों ने मिलकर चापड़ व डंडों से पीड़िता की माँ और मौसी को इतनी बुरी तरह से पीटा कि वो दोनों अधमरी हो गईं। इस हमले में पीड़िता की माँ रूबी की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि मौसी रुखसाना गंभीर रुप से घायल हैं, जिनका इलाज अभी जारी है।

पीड़िता के परिजनों की शिक़ायत पर थाना चकेरी में आरोपितों के ख़िलाफ़ छेड़छाड़, जान से मारने के प्रयास समेत कई धाराओं में मामला दर्ज हुआ है। पीड़िता की माँ की मौत के बाद इलाक़े में तनाव की स्थिति बनी हुई है। हालात पर नियंत्रण रखने के लिए मृतका के घर के बाहर और पूरे क्षेत्र में पुलिस बल की तैनाती की गई है। यह मामला चकेरी थाना क्षेत्र का है। आरोपितों में से चार को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है।

हमलावरों का दिल दहला देने वाला एक विडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि पीड़िता की माँ को कितनी बुरी तरह से मारा जा रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि आरोपी अपने जूतों से पीड़िता का माँ का सिर कुचल देता है।

ख़बर के अनुसार, वर्ष 2018 में 13 साल की नाबालिग लड़की के साथ आरोपितों ने बलात्कार करने की कोशिश की थी। इस सन्दर्भ में थाना चकेरी में आईपीसी की धारा- 323, 336, 354ख और 11/12 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में पुलिस ने चार्जशीट भी दाखिल की थी। कुछ महीनें जेल में सज़ा काटने के बाद जब वो ज़मानत पर बाहर आए थे। फ़िलहाल, पुलिस ने फ़रार आरोपितों की धड़-पकड़ के लिए पाँच टीमों का गठन किया है।

loading...