मोदी राज में भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ ब्रिटिश उच्च न्यायालय ने कर डाली ये ताबड़तोड़ कार्रवाई…

273

The British High Court in the Modi Government took the swift action against Vijay Mallya (लंदन) : अभी-अभी लंदन से भगोड़े ‘विजय माल्या’ को लेकर बड़ी खबर आई है. जिसके बाद विजय माल्या की मुश्किलें और भी बढ़ने वाली वाली हैं. आपको याद दिला दें कि ‘विजय माल्या’ भारतीय बैंकों का हजारों करोड़ रुपए लेकर भारत से भाग गया था.

मोदी राज में भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ ब्रिटिश उच्च न्यायालय ने कर डाली ये ताबड़तोड़ कार्रवाई...
विजय माल्या

सूत्रों की माने तो शराब कारोबारी विजय माल्या वसूली के प्रयासों से बचने के लिए ‘ब्रिटिश उच्च न्यायालय’ को समझा पाने में सफल नहीं हो पाया. बुधवार 17 अप्रैल को ब्रिटिश कोर्ट ने विजय माल्या के लंदन स्थित बैंक खाते से 2,60,000 पाउंड (235 करोड़ रुपये) पर कब्जा पाने भारतीय बैंकों की कोशिश के खिलाफ कोई आदेश पारित करने से मना कर दिया है.

ध्यान देने वाली बात यह है कि विजय माल्या की धनराशि अब लंदन की ‘आइसीआइसीआइ बैंक’ में बनी रहेगी. भारत से भागकर लंदन में रह रहे विजय माल्या पर ब्रिटिश न्यायालयों में जो मुक़दमे चल रहे हैं, यह उनमें से एक है.

मोदी राज में भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ ब्रिटिश उच्च न्यायालय ने कर डाली ये ताबड़तोड़ कार्रवाई...
ब्रिटिश हाई कोर्ट

उच्च न्यायालय के न्यायाधीश ‘मास्टर डेविड कुक’ ने ‘भारतीय स्टेट बैंक’ और अन्य बैंकों के ‘आइसीआइसीआइ बैंक’ की लंदन शाखा में जमा विजय माल्या के 235 करोड़ रुपये तक पहुंचाने का अंतरिम फैसला सुनाया है. परंतु शर्त यह है कि जब तक विजय माल्या के खिलाफ चल रहे धन घोटाले के मामलों पर फैसला नहीं आ जाता, तब तक बैंक यह धन निकाल नहीं सकेंगे.

यह भी पढ़े : मोदी सरकार की जबरदस्त कार्रवाई के बाद भगोड़े विजय माल्या के खिलाफ लंदन कोर्ट ने लिया ये ताबड़तोड़ एक्शन!

इस बात यह साफ है कि भगोड़ा विजय माल्या भी आइसीआइसीआइ बैंक में जमा अपने इस धन नहीं निकाल नहीं सकता.

मोदी राज में भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ ब्रिटिश उच्च न्यायालय ने कर डाली ये ताबड़तोड़ कार्रवाई...
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया

सूत्रों की माने तो विजय माल्या के खिलाफ भारतीय बैंकों ने लंदन की कोर्ट में दुनिया भर की संपत्तियों की जब्ती के आदेश की प्रतिलिपि लेकर अर्जी दी थी. परंतु कोर्ट ने माल्या के वकील का यह अनुरोध खारिज करते हुए कहा कि उनके मुवक्किल को अपने रोजमर्रा के खर्च के लिए धन की जरुरत पड़ेगी.

loading...