बुलंदशहर हिंसा के मास्टरमाइंड को पुलिस ने दबोचा! अब सामने आएगी घटना की सच्चाई…

61

The mastermind of Bulandshahr violence was arrested by the police! The truth of the incident will now come out (बुलंदशहर) : 3 दिसंबर 201 8 को उत्तर प्रदेश के ‘बुलंदशहर हिंसा’ में मारे गए इंस्पेक्टर ‘सुबोध कुमार’ के मुख्य आरोपी को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. सूत्रों की माने तो इस घटना के मुख्य आरोपी ‘योगेश राज’ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही आपको बता दें कि आरोपी योगेश हिंसा के बाद से ही गायब रहा था.

बुलंदशहर हिंसा के मास्टरमाइंड को पुलिस ने दबोचा! घटना की सच्चाई अब आएगी सामने...

पुलिस की माने तो 3 दिसंबर से ही बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी ‘योगेश राज’ फरार चल रहा था. ध्यान देने वाली बात यह है कि आरोपी योगेश अपने आकाओं के संपर्क में भी था परंतु पुलिस को कोई जानकारी नहीं मिल पा रही थी. 2 जनवरी की रात पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी योगेश बुलंदशहर के खुर्जा आने वाला है.

जैसे ही यह सूचना पुलिस को मिली तो बीबीनगर थानाध्यक्ष पुलिस फोर्स लेकर खुर्जा बुलंदशहर बाईपास पर स्थित ‘ब्रह्मानंद कॉलेज’ के पास पहुंचे. इस दौरान पुलिस ने यहां पर टी-प्वाइंट के पास से रात करीब 11.30 बजे योगेश को गिरफ्तार किया. फ़िलहाल अभी आरोपी से पूछताछ जारी है.

सूत्रों की माने तो आरोपी योगेश के पिता का नाम ‘सूरजभान सिंह’ है और नयाबांस माजरा साहनपुर, स्याना का रहने वाला है. योगेश पर आरोप यह है कि 3 दिसंबर को उसने ही ‘गोकशी’ की बात फैलाई और सैकड़ों की भीड़ को इकट्ठा किया. देखते ही देखते जिसने हिंसा का रूप ले लिया और इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध और ‘सुमित’ नाम के स्थानीय शख्स की मौत हो गई.

बुलंदशहर हिंसा के मास्टरमाइंड को पुलिस ने दबोचा! घटना की सच्चाई अब आएगी सामने...

दो नामजद आरोपियों ने किया आत्मसमर्पण

हैरानी की बात यह है कि इस मामले में शामिल दो नामजद आरोपियों ने बुधवार 2 जनवरी को ‘सीजेएम अदालत’ में आत्मसमर्पण किया था. हालांकि न्यायालय ने दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. इस मामले में अब तक 13 नामजद समेत 32 आरोपियों को जेल में डाल दिया गया है. जिन लोगो ने सरेंडर किया है वो चांदपुर पूठी गांव निवासी ‘सतीश कुमार’ और महाब निवासी ‘विनीत कुमार’ हैं.

यह भी पढ़े- बुलंदशहर हिंसा : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या करने वाला एक और अपराधी गिरफ्तार! पूछताछ जारी…

आपको इस बात से अवगत करा दें कि बुलंदशहर हिंसा को पूरा एक महीना बीतने के बाद भी 12 नामजद आरोपी अब भी पुलिस की हिरासत में नहीं आए हैं. बीते तीन दिसंबर को स्याना कोतवाली के चिंगरावठी चौकी इलाके में हुई गोकशी की हिंसा में इंस्पेक्टर ‘सुबोध कुमार’ और युवक ‘सुमित’ की गोली लगने से मौत हो गई थी.

बुलंदशहर हिंसा के मास्टरमाइंड को पुलिस ने दबोचा! घटना की सच्चाई अब आएगी सामने...

सूत्रों की माने तो इस घटना में शामिल 27 नामजद और लगभग 60 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई थी. एसएसपी ‘प्रभाकर चौधरी’ ने जानकारी देते हुए कहा है कि इस घटना में शामिल सभी आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस लगातार सक्रिय है. इसके आगे उन्होंने कहा है कि बहुत जल्द फरार चल रहे सभी आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

loading...