आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार द्वारा पाकिस्तान पर बनाए गए कूटनीतिक दबाव को लेकर अमेरिका ने भारत के पक्ष में कही ये बड़ी बात…

215

The US has said this in favor of India regarding the diplomatic pressure of the Modi government on terrorism in Pakistan (वॉशिंगटन) : अभी-अभी ‘पाकिस्तान’ को लेकर ‘भारत’ की प्रशंसा करते हुए ‘अमेरिका’ ने बड़ा बयान दिया है. अमेरिका ने माना कि ‘मोदी सरकार’ की जोरदार कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने आतंकियों के खिलाफ एक्शन लेना शुरू कर दिया है. जिससे आतंकियों की मुश्किलें बढ़ने लगी गई.

आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार के कूटनीतिक बनाए गए दबाव को लेकर अमेरिका ने भारत के पक्ष में कही ये बड़ी बात...

अमेरिका के रक्षा मंत्री ‘मार्क एस्पर’ ने कहा कि पाकिस्तान ने भारतीय विरोधी आतंकी संगठनों के खिलाफ शुरुआती और आशाजनक कदम उठाने लगा है. ऐसा कहते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान इलाके में रणनीतिक दृष्टिकोण में बदलाव कर ऐसे ठोस कदम उठा रहा है.

इसके आगे एस्पर ने कहा कि राष्ट्रपति की दक्षिण एशिया रणनीति पाकिस्तान को इलाके में अमेरिकी हितों को आगे बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण भागीदार के रूप में पहचानती है, जिसमें अफगानिस्तान में एक राजनीतिक समझौता विकसित करना, ‘अल-कायदा’ और ‘आईएसआईएस’ को परास्त करना, सैन्य पहुंच प्रदान करना और क्षेत्रीय स्थिरता को बढ़ाना शामिल है.

आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार के कूटनीतिक बनाए गए दबाव को लेकर अमेरिका ने भारत के पक्ष में कही ये बड़ी बात...

मंगलवार 16 जून को सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के सामने एस्पर ने कहा कि, ‘हमने देखा है कि पाकिस्तान ने अफगान के समाधान को लेकर कुछ रचनात्मक फैसले लिए हैं. पाकिस्तान ने ‘लश्कर-ए-तैयबा’ और ‘जैश-ए-मोहम्मद’ जैसे भारत विरोधी समूहों के खिलाफ प्रारंभिक और आशाजनक कदम उठाए हैं, जिससे इलाके में खतरा है.

यह भी पढ़े : करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत के जोरदार दबाव के सामने पाकिस्तान ने टेके घुटने!

इसके आगे उन्होंने कहा कि अब इस बात का आकलन करना मुश्किल है कि पाकिस्तान ने यह एक्शन खुद लिया है या ‘अफगान सुलह’ और ‘पुलवामा आतंकी हमले’ के बाद हुई कार्रवाइयों की वजह से मजबूर होकर लिया है.

आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार के कूटनीतिक बनाए गए दबाव को लेकर अमेरिका ने भारत के पक्ष में कही ये बड़ी बात...

मार्क एस्पर ने कहा कि ‘ट्रंप प्रशासन’ शीर्ष स्तर पर 2 + 2 जैसे मंत्रिस्तरीय संवाद द्वारा समग्र रक्षा संबंधों को बढ़ावा देना जारी रखेगा. उन्होंने कहा कि वह भारतीय सशस्त्र बलों के साथ सूचना-साझा करने को बढ़ती क्षमता को प्राथमिकता देना जारी रखेंगे.
loading...