आतंकवाद को बढ़ावा देने को लेकर अमेरिका ने पाकिस्तान को दे डाली ये नसीहत! जिससे पाकिस्तान में मचा हडकंप…

274

The US said this to Pakistan about the promotion of terrorism (वाशिंगटन) : इस बात को आप भलीभांति जानते हैं कि आतंकवाद को बढ़ावा देने के कारण पाकिस्तान पूरी दुनिया में बदनाम होता रहा है. साथ ही पाकिस्तान पर ‘आतंकवाद’ के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का भी दबाव बनाया गया. इसी बीच अमेरिकी विदेश मंत्री अमेरिका ने ‘माइक पोम्पियो’ ने पाकिस्‍तान को नसीहत दी है.

आतंकवाद को बढ़ावा देने को लेकर अमेरिका ने पाकिस्तान को दे डाली ये नसीहत! जिससे पाकिस्तान में मचा हडकंप...

मंगलवार 23 जुलाई को उन्होंने पाकिस्तान से दो टूक कहा है कि वह आतंकी संगठनों उखाड़ फेंकने के लिए कड़ी कार्रवाई करे. माइक पोंपियो ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ‘इमरान खान’ से मुलाकात की और कहा कि वह आतंकी संगठनों के खिलाफ ठोस और निर्णायक कार्रवाई करे.

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने जारी एक बयान में कहा कि विदेश मंत्री पोंपियो आतंकी संगठनों को तबाह करने के अलावा साझा सुरक्षा प्राथमिकताओं पर पाकिस्तान की तरफ से प्रगति की उम्मीद कर रहे हैं. उन्हें उम्मीद है कि यह नए सिरे से बनने वाली साझेदारी के लिए आधार बनेगा. इस दौरान पोंपियो ने व्‍यापार, निवेश और द्व‍िपक्षीय सहयोग बढ़ाने को लेकर बातचीत के स्‍वागत किया.

आतंकवाद को बढ़ावा देने को लेकर अमेरिका ने पाकिस्तान को दे डाली ये नसीहत! जिससे पाकिस्तान में मचा हडकंप...

इमरान खान ने खुलासा करते हुए कहा कि उनके देश में 40 आतंकी संगठन चल रहे थे. अमेरिका में इमरान खान ने कहा कहा कि इससे पहले यह जानकारी अमेरिका को पिछली सरकारों ने दी थी. इम्तान खान ने यह भी माना कि पिछले 15 साल से पाकिस्तान अमेरिका को गुमराह करता रहा है. इसके आगे उन्‍होंने कहा कि ‘पुलवामा आतंकी हमला’ कश्मीर के स्थानीय लोगों ने ही किया था. इस हमले से पाकिस्तान का लेना देना नहीं है.

यह भी पढ़े : आतंकवाद को बढ़ावा देने को लेकर अमेरिका ने पाकिस्तान के खिलाफ लिया अब तक सबसे धमाकेदार एक्शन…

सूत्रों की माने तो इससे पहले 5 सितंबर 2018 को अमेरिकी विदेश मंत्री ने इस्लामाबाद में इमरान खान के साथ बैठक की थी. तब उन्होंने अमेरिका और पाकिस्‍तान के साथ मिलकर काम करने के महत्‍व को रेखांकित किया था.

आतंकवाद को बढ़ावा देने को लेकर अमेरिका ने पाकिस्तान को दे डाली ये नसीहत! जिससे पाकिस्तान में मचा हडकंप...

इसके अलावा ‘आतंकवाद’ के खिलाफ सख्त कार्रवाई और अफगानिस्‍तान में शांति प्रक्रिया में पाकिस्‍तान की आवश्यकता को लेकर भी प्रकाश डाला था. दोनों नेताओं के बीच व्यापार और निवेश बढ़ाने समेत सहयोग बढ़ाने के अन्‍य अवसरों को लेकर भी चर्चा हुई थी.

loading...