दुष्कर्म मामले में अपनी पार्टी के इस नेता को बचाने के लिए केजरीवाल सरकार की सामने आई ये शर्मनाक करतूत…

21

This shameful act of Kejriwal government came out against the rape (नई दिल्ली) : अभी-अभी राजधानी दिल्ली से एक चौंकाने वाली खबर आई है. जिसके बाद देशभर में सनसनी फैल गई है. सूत्रों की माने तो दुष्कर्म मामले में ‘केजरीवाल सरकार’ का शर्मनाक रवैया देखने को मिला है. केजरीवाल सरकार अपने पूर्व मंत्री ‘संदीप कुमार’ के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने की अनुमति नहीं दे रही है.

दुष्कर्म मामले को लेकर अपनी पार्टी के इस नेता को बचाने के लिए केजरीवाल सरकार की सामने आई ये शर्मनाक करतूत...
अरविंद केजरीवाल

ध्यान देने वाली बात यह है कि ‘दिल्ली पुलिस’ ने केजरीवाल सरकार को दोबारा से रिमाइंडर भेजा है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीते करीब सवा साल से केजरीवाल सरकार चार्जशीट दाखिल करने की अनुमति नहीं दे रही है. 

आपको याद दिला दें कि दिल्ली सरकार के मंत्री रहे ‘संदीप कुमार’ पर राशन कार्ड बनाने का झांसा देकर ‘दुष्कर्म’ करने का आरोप है. जिसको लेकर साल 2016 में सुल्तानपुरी थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था.

यह भी पढ़े : अरविंद केजरीवाल ने हिन्दुओं की भावना को पहुंचाई ठेस!

इस मामले में एक महिला की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने आप नेता संदीप को तीन सितंबर को गिरफ्तार कर लिया था. परंतु 7 नवंबर 2016 को ‘आम आदमी पार्टी’ (आप) के नेता संदीप को न्यायालय से जमानत मिल गई थी. महिला सीडी में संदीप के साथ आपत्तिजनक स्थिति में नजर आ रही थी. 

दुष्कर्म मामले को लेकर अपनी पार्टी के इस नेता को बचाने के लिए केजरीवाल सरकार की सामने आई ये शर्मनाक करतूत...
संदीप कुमार

महिला ने आरोप लगाया था कि वह राशन कार्ड बनवाने के लिए संदीप कुमार के पास गई थी. तब उसने कोल्ड ड्रिंक में नशा पदार्थ मिलाकर दिया और महिला के साथ दुष्कर्म किया. आरोपी संदीप पर दुष्कर्म के अलावा भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम की धारा भी लगाई थीं.

loading...