मोदी राज में 2017 में हुए सीआरपीएफ कैंप पर हमले के मास्टरमाइंड को यूएई ने भारत को सौंपा! जिससे पाकिस्तान की बढ़ी मुश्किलें…

241

UAE delegation handed over to India to attack mastermind of attack on CRPF camp in 2017 (नई दिल्ली) : आपको याद दिला दें कि साल 2017 में लेथपोरा में ‘सीआरपीएफ कैंप’ पर हुए आतंकी हमले में मोदी सरकार की जोरदार कार्रवाई का असर देखने को मिला. इस हमले में शामिल ‘जैश-ए-मोहम्मद’ के एक आतंकी को गिरफ्तार कर लिया गया. जो 1 फरवरी को यूएई फरार हो गया था. 31 मार्च को एक बार फिर से केंद्र की ‘मोदी सरकार’ उसे भारत लेकर आई थी.

मोदी राज में 2017 में हुए सीआरपीएफ कैंप पर हमले के मास्टरमाइंड को यूएई ने भारत को सौंपा...
नरेंद्र मोदी

सूत्रों की माने तो इस बार ‘संयुक्त अरब अमीरात’ (यूएई) ने जैश-ए-मोहम्मद के खूंखार आतंकी ‘निसार अहमद तांत्रे’ को भारत के हवाले कर दिया. ध्यान देने वाली बात यह है कि यह हमला दिसंबर 2017 में जम्मू-कश्मीर के लेथपोरा में स्थित ‘सीआरपीएफ कैंप’ पर हुए हमले का मुख्य साजिशकर्ता है.

यह भी पढ़े : देश की सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार ने लिया ये धमाकेदार फैसला!

साल 2017 में पुलवामा जिले में लगभग दो भारी हथियाबंद आतंकियों ने ‘केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल’ (सीआरपीएफ) के ट्रेनिंग कैंप पर हमला कर दिया. इस हमले में पांच जवान शहीद हुए थे.

मोदी राज में 2017 में हुए सीआरपीएफ कैंप पर हमले के मास्टरमाइंड को यूएई ने भारत को सौंपा...

आपको याद हो कि इस हमले को अंजाम देने वाले दो आतंकियों को ढेर कर दिया था. हमला करने के लिए सीआरपीएफ के 185वीं बटालियन के कैंप में दो से तीन आतंकी घुस गए थे. आधिकारिक सूत्रों ने कहा था कि दो से तीन आतंकियों ने सीआरपीएफ कैंप के मेन गेट के पास तैनात जवानों पर ग्रेनेड फेंके और ऑटोमैटिक हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी की थी.

loading...