अखिलेश के करीबी कहे जाने वाले पूर्व एमडी ‘अरबपति मिश्रा’ गिरफ्तार ! ये है पूरा मामला

14

नई दिल्ली : सभी जानते हैं कि अखिलेश सरकार में जनता के पैसों की जमकर बर्बादी हुई, रसूखदारों को एक से एक ऊँचे पद पर बिठा दिया गया जिसके बाद उन्होंने खूब लूट मचाकर अपनी तिजोरियां भरी. ये लूट इसलिए मची क्योंकि ऐसे भ्रष्टाचारियों के सिर पर अखिलेश का हाथ था. तो वहीँ अब अखिलेश के करीबी को योगी सरकार में धर दबोच लिया है जिससे अखिलेश भी बौखला उठे हैं.

अखिलेश के करीबी कहे जाने वाले पूर्व एमडी 'अरबपति मिश्रा' गिरफ्तार ! ये है पूरा मामला
यूपीपीसीएल के पूर्व एमडी एपी मिश्रा

ताजा खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन में कर्मचारियों के भविष्य निधि घोटाले मामले में योगी आदित्यनाथ सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है. इस मामले की जांच कर रही यूपी पुलिस की आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा (ईओडब्ल्यू) ने मंगलवार को पूर्व एमडी एपी मिश्रा (AP Mishra) को गिरफ्तार कर लिया है. ईओडब्ल्यू मिश्रा ने पूछताछ कर रही है. इससे पहले कॉर्पोरेशन के पूर्व निदेशक सुधांशु द्विवेदी और इम्पलाइज ट्रस्ट के तत्कालीन सचिव प्रवीण कुमार गुप्ता को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार किया गया था.

उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) में बिजली इंजीनियरों और कर्मचारियों  के पीएफ का पैसा भ्रष्टाचार में लगाने के घोटाले में करीब ढाई हज़ार करोड़ की गड़बड़ी का आरोप है. इस पूरे मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की गई है. जांच शुरू होने तक ईओडब्लू को जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

अखिलेश के करीबी कहे जाने वाले पूर्व एमडी 'अरबपति मिश्रा' गिरफ्तार ! ये है पूरा मामला

ईओडब्ल्यू की टीम डीआइजी हीरालाल के नेतृत्व में मंगलवार को अलीगंज में एपी मिश्रा के आवास पर पहुंची. इसके बाद हजरतगंज थाने की पुलिस ने उनको घर से गाड़ी में बैठाया. एपी मिश्रा से पुलिस अफसर अज्ञात स्थान पर पूछताछ कर रहे हैं. ईओडब्ल्यू के के अफसर भी एपी मिश्रा से पूछताछ करने पहुंच रहे हैं.

यूपी सरकार ने इस घोटाला की सीबीआई जांच की सिफारिश की है. डीजी ईओडब्ल्यू डॉ.आरपी सिंह ने घोटाले की विवेचना के लिए डीआइजी हीरालाल व एसपी शकीलुज्जमा के नेतृत्व में 11 सदस्यीय टीम गठित की है.

अखिलेश के करीबी कहे जाने वाले पूर्व एमडी 'अरबपति मिश्रा' गिरफ्तार ! ये है पूरा मामला

एपी मिश्रा कौन हैं ? इनका क्या अखिलेश यादव से कनेक्शन?
वैसे तो एपी मिश्रा का पूरा नाम अयोध्या प्रसाद मिश्रा हैं लेकिन लोग इन्हे ऊर्जा विभाग का अरबपति मिश्रा भी कहा जाता है. इसे मिश्रा का मैनेजमेंट ही कहिए कि सत्ता में बसपा बदलकर सपा सरकार आई लेकिन एपी मिश्रा की कुर्सी बरकार रही. चंद दिनो में मिश्रा तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की आंखों के तारे बन गए. अखिलेश यादव ने तमाम योग्य आइएस को दरकिनार मिश्रा को एमडी का पद दे दिया. इतना ही एपी मिश्रा को सपा सरकार में तीन बार सेवा विस्तार भी मिला.

सपा के टिकट पर चुनाव लड़ने की थी तैयारी
अयोध्या प्रसाद मिश्रा ने अखिलेश यादव पर किताब भी लिखी थी. जिसका सीएम के सरकारी आवास, 5 केडी में विमोचन किया था. कहा तो ये भी जाता है कि एपी समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव भी लड़ना चाहते थे. एपी सपा-बसपा में खूब पैसा कमाया लेकिन योगी आदित्यनाथ सरकार में उनकी दाल नहीं गली. प्रदेश में 19 मार्च 2017 को योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यभार संभालने के बाद एपी मिश्रा ने 22 मार्च 2017 को इस्तीफा दे दिया था.

loading...