पश्चिम बंगाल में थमने का नाम नहीं ले रहा है खूनी बवाल! बीते 72 में घंटे में अब तक हिंसा में कई लोगों की हत्या…

107

Violence in West Bengal is not taking to stop! In the last 72 hours so many people were killed in the violence (पश्चिम बंगाल) : अभी-अभी ‘पश्चिम बंगाल’ से एक चौंकाने वाली खबर आई है. जिससे देशभर में सनसनी फैल गई है. जैसा कि आप जानते हैं ‘लोकसभा चुनाव’ में ‘भाजपा’ ने ‘तृणमूल कांग्रेस’ (टीएमसी) को उसी के गढ़ पश्चिम बंगाल में उखाड़ फेका. जिसके बाद पश्चिम बंगाल में खूनी हिंसा पैदा हुई जो अब थमने का नाम नहीं ले रही है.

पश्चिम बंगाल में थमने का नाम नहीं ले रहा है खूनी बवाल! बीते 72 में घंटे में अब तक हिंसा में कई लोगों की हत्या...

आपको याद दिला दें कि शनिवार 8 जून को बशीरहाट हिंसा में चार लोगों की हत्या हुई. जिसके बाद रविवार और सोमवार को भाजपा और ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ’ (आरएसएस) के दो कार्यकर्ताओं के शव पेड़ से लटके पाए गए.

यह भी पढ़े : बंगाल में मुस्लिम ने टैक्सी में हनुमान जी और माता काली की तस्वीर को लगा देख छेड़ा नया जिहाद

दूसरी तरफ सोमवार 11 जून की ही रात उत्तर 24 परगना के कांकीनारा इलाके में जोरदार ‘बम धमाका’ हुआ. जिसके लोगों में डर बना हुआ है. इस बम धमाके में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि चार अन्य लोग घायल हो गए. इस हमले में मरने वालों में एक टीएमसी का कार्यकर्ता बताया जा रहा है. शनिवार से लेकर सोमवार की रात तक बंगाल में महज 72 घंटों में आठ लोगों की हत्या हुई है.

पश्चिम बंगाल में थमने का नाम नहीं ले रहा है खूनी बवाल! बीते 72 में घंटे में अब तक हिंसा में कई लोगों की हत्या...

इन घटनाओं के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है. स्थानीय लोगों ने जानकरी देते हुए कहा कि सोमवार 11 जून की रात अज्ञात बदमाशों ने देसी बम धमाके किए, जिसमें जानमाल का नुकसान हुआ. बम धमाके के बाद से लोग दहशत में हैं. वहीं इलाके में कुछ घरों में लूट की भी खबरें सामने आई हैं. डर होने के कारण लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है.

ध्यान देने वाली है कि सोमवार 11 जून को भाजपा और ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ’ (आरएसएस) के कार्यकर्ता के शव पेड़ से लटके मिले थे. हावड़ा के सरपोता गांव के लोगों ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता ‘समातुल दोलुई’ के शव को खेतों में पेड़ से लटका देखा. भाजपा नेताओं और दोलुई के परिवार ने टीएमसी के लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है.

पश्चिम बंगाल में थमने का नाम नहीं ले रहा है खूनी बवाल! बीते 72 में घंटे में अब तक हिंसा में कई लोगों की हत्या...

इस घटना के एक दिन पहले आरएसएस के वरिष्ठ नेता ‘स्वदेश मन्ना’ का शव भी अत्चाता गांव में पेड़ पर लटका मिला था. सूत्रों की माने तो पिछले कुछ दिनों से स्वदेश मन्ना ‘जय श्री राम’ की रैलियां निकाल रहे थे. भाजपा ने आरोप लगाते हुआ कहा कि जय श्री राम के नारे लगाने पर भी यहां हत्या कर दी जा रही है.

loading...