राजेश खन्ना की 75वीं जयंती पर उनके कुछ तथ्य..

109

29 दिसम्बर 2017 : बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार कहे जाने वाले राजेश खन्ना (काका) की आज 75वीं जयंती है एक साथ 15 हिट फिल्में देने वाले दिवंगत अभिनेता राजेश खन्ना का रिकॉर्ड आज भी बरकरार है. इन्होंने अपने करियर की शुरुआत 1966 में रिलीज हुई फिल्म ‘आखिरी खत’ से की थी. इस बॉलीवुड अभिनेता ने अपने फिल्मी करियर में 160 फीचर फिल्में और 17 लघु फिल्मों में काम किया. आज के दिन इस महान अभिनेता राजेश खन्ना का जन्मदिन है. इसी उपलक्ष्य मे हम आपको राजेश खन्ना के फिल्मी करियर से जुड़ी कुछ खास बातों बताने जा रहे है.
राजेश खन्ना का जन्म 29 दिसंबर,1942 में अमृतसर में हुआ था. जबकि राजेश को उनके जैविक माता-पिता के रिश्तेदार चुन्नी लाल खन्ना और लीला वती खन्ना ने पाला-पोसा. उनके असली माता-पिता का नाम लाला हीरानंद और चंद्रानी खन्ना था.

राजेश खन्ना की 75वीं जयंती पर उनके कुछ तथ्य..
राजेश खन्ना image source

राजेश ने गोवा के सेंट सेबेस्टियन विद्यालय से हाई स्कूल पास की. अपनी पढ़ाई खत्म करने के बाद ही राजेश ने थिएटर मे जाने का फैसला किया. इन्होंने अपने स्कूल और कॉलेज के दिनों में कई नाटकों में हिस्सा लिया, और पुरस्कार भी जीते. राजेश की एक खास बात यह भी थी कि वह उन कम लोगों में से थे, जो 1960 के दशक में अपनी नई एमजी स्पोर्ट कार से थियेटर पहुंचते थे.

राजेश की उन 15 हिट फिल्मो की बात करें तो उन फिल्मो मे ‘अराधना’, ‘इत्तेफाक’, ‘डोली’, ‘बंधन’, ‘दो रास्ते’, ‘द ट्रेन’, ‘सच्चा झूठा’, ‘सफर’, ‘कटी पतंग’, ‘आओ मिलो सजना’, ‘आनंद’, ‘मर्यादा’, ‘हाथी मेरा साथी’, ‘अमर प्रेम’, ‘अंदाज’, ‘दुश्मन’ और ‘अपना देश’ शामिल है. इन्होंने अपनी बेहतरीन अदाकारी के लिए फिल्मफेयर के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार भी जीता है.
राजेश को एक दिग्गज फैशन डिजाइनर और अभिनेत्री अंजू महेंद्रू से प्यार हुआ था, उनका रिश्ता सात साल तक कायम रहा लेकिन किसी कारण उनका रिश्ता टूट गया और इस रिश्ते के टूटने के बाद वे 17 साल तक एक-दूसरे के संपर्क में नहीं रहे. इस सभी के बीच, अभिनेता राजेश खन्ना ने मार्च, 1973 में अभिनेत्री डिंपल कपाड़िया से शादी कर ली. इनकी दो बेटियां है जिनका नाम ट्विंकल और रिंकी खन्ना है. ट्विंकल ने भी अपने लिए फिल्मी करियर ही चुना और इस दौरान उन्होंने कई सफल फिल्में की और बाद में अभिनेता अक्षय कुमार से शादी कर ली. वहीं, रिंकी ने भी फिल्मो मे कोशिश की लेकिन इनको उतनी सफलता हासिल नहीं हुई.

जून, 2012 में राजेश खन्ना की तबीयत बिगड़नी शुरू हो गई और 23 जून को उन्हें लीलावती अस्पताल में भर्ती किया गया. उसके बाद उनका स्वास्थ्य ठीक होने पर आठ जुलाई को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. लेकिन राजेश खन्ना की तबीयत ज्यादा बिगड़ने के कारण इन्हें 14 जुलाई को लीलावती अस्पताल में फिर भर्ती किया गया और 16 जुलाई को घर लाया गया. अपनी अदाकारी से एक समय मे लोगों को भावुक कर उनके दिलों में छाप छोड़ने वाले इस महान अभिनेता ने 18 जुलाई, 2012 को अपने घर आशिर्वाद में अंतिम सांस ली. और इस दुनिया से विदाई ले ली. इन्होंने हमारे बीच अपनी इतनी यादे छोड़ी है की आज भी काका हमारे दिलो मे जिन्दा है.

loading...