आयुर्वेद! पिंपल्स को दूर करने के ये हैं शानदार आयुर्वेदिक उपचार

115

अगर गोरे चेहरे पर किसी प्रकार का दाग धब्बा या कोई निशान पड़ जाए, तो आपके मन में कई तरह के उपचारों के विचार आने लगते हैं. इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि..

आयुर्वेद! पिंपल्स को दूर करने के ये हैं शानदार आयुर्वेदिक उपचार
पिंपल्स image source

पिंपल्स किसी के लिए सबसे खराब दुश्मन है. यदि आप इससे छुटकारा पाना चाहते हैं, तो हम आपको कुछ घरेलू उपचार बताने जा रहे है जिससे आप पिंपल्स से कुछ समय में ही छुटकारा पा लेंगे.

 

तुलसी

आयुर्वेद! पिंपल्स को दूर करने के ये हैं शानदार आयुर्वेदिक उपचार
तुलसी image source

सभी जानते है कि तुलसी एक धार्मिक पौधा है, जो घरों के आँगन मे लगाया जाता है जिससे की घर मे ताज़गी आती है और वातावरण को उत्तेजित करता है. बता दें कि हजारों सालो से आयुर्वेद में तुलसी को घाव ठीक करने के काम में प्रयोग किया जा रहा है. इसके अलावा भी तुलसी के पेस्ट को जब आप नियमित रूप से इस्तेमाल करते हैं, तो ये मुंहासे या पिंपल्स से छुटकारा पाने का एक शानदार तरीका है. बता दें कि इस कार्य के लिए आप तुलसी के पत्ते का पाउडर ले लीजिए और उसे गर्म पानी में 2-3 चम्मच मिलाकर पेस्ट तैयार कर लीजिए. इस पेस्ट को कुछ सप्ताह तक अपने चेहरे पर लगाने से आपको जल्द ही शानदार असर दिखेगा.

 शहद

आयुर्वेद! पिंपल्स को दूर करने के ये हैं शानदार आयुर्वेदिक उपचार
शहद image source

बता दें कि एंटी बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुणों से भरपूर शहद खांसी और ठंड, पाचन और वजन घटाने में बहुत ही सहायक है. मुंहासे या पिंपल्स को खत्म करने के लिए शहद और नींबू का रस का मिश्रण, एक सरल और प्रभावी होममेड सौंदर्य प्रसाधनों में से एक है. बता दें कि इसके लिए आप एक बड़े शहद में एक बड़ा चम्मच नींबू का रस मिलाएं और मुंहासे की दाग वाली जगह पर इसे लगाएं. आप इसे 10 मिनट तक लगाए रखे और 10 मिनट के बाद इसे पानी से धो लें. जब आप इसे सप्ताह में 5-6 बार लगाते हैं, तो आपको इसका अच्छा परिणाम मिलेंगे.

दालचीनी

आयुर्वेद! पिंपल्स को दूर करने के ये हैं शानदार आयुर्वेदिक उपचार
दालचीनी image source

दालचीनी एक लोकप्रिय मसाला है. इसमें पोषक तत्व होते हैं जो कि मल्टीपल स्केलेरोसिस और अन्य बीमारियों के साथ लोगों को लाभ पहुंचा सकते हैं. आपको बता दें कि मल्टीपल स्केलेरोसिस एक तरह की बीमारी है, जिसमें आपकी इम्यून सिस्टम आपकी तंत्रिकाओं को आवरण प्रदान करने वाले सुरक्षात्मक खोल को नुकसान पहुंचाती है. यदि आप पिंपल्स की समस्या से ग्रसित हैं तो आप थोड़ा भुना हुआ दालचीनी लें और बारीक पीस लें. दालचीनी को शहद के साथ मिलाकर पेस्ट करें और इसे धोने से पहले लगभग 10-15 मिनट के लिए सप्ताह में कम से कम 5-6 बार लगाएं.

पुदीना

आयुर्वेद! पिंपल्स को दूर करने के ये हैं शानदार आयुर्वेदिक उपचार
पुदीना image source

एंटीऑक्सीडेंट, जीवाणुरोधी, एंटीवायरल आदि गुणों की वजह से पुदीना स्वास्थ के लिए तो अच्छा होता ही है, ये गर्मी के मौसम में आपको कई बड़ी बीमारियों से भी बचाता है. पुदीना मुख्य आहार तो नहीं है, लेकिन इसकी मौजूदगी से खाने का स्वाद बढ़ जाता है. इसके अलावा पुदीने की पतीगीी औषधीय गुणों से भरपूर होती है. मुंहासे को दूर करने के लिए आप कुछ पुदीने के पत्तों को मिला लें और एक ताज़ा पेस्ट करें. इस पेस्ट को मुंहासे वाली जगह पर लगाएं. मुंहासे के लिए इस आयुर्वेदिक दवा का नियमित उपयोग करने से आपको मुंहासे के निशान से छुटकारा मिल सकता है.

नीम 

आयुर्वेद! पिंपल्स को दूर करने के ये हैं शानदार आयुर्वेदिक उपचार
नीम image source

नीम का पत्ता कुष्ठ रोग, भूख की कमी, त्वचा के अल्सर, हृदय रोगों और रक्त वाहिकाओं (हृदय रोग), बुखार, मधुमेह, मसूड़े की सूजन, और लिवर के लिए बहुत ही फायदेमंद है. पिंपल्स या मुंहासे की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप नीम के पत्तों का पेस्ट बनाओ और इसे मुंहासे वाली जगह पर लगाएं. ऐसा करने से आपको इसका बेहतर परिणाम मिलेगा.

Loading...