छाती में बलगम और सूजन होने पर अपनाये ये घरेलू उपाय, मिनटों में होगा लाभ

340

छाती में जमाव होना एक बहुत ही असुविधाजनक स्थिति है, ये श्वसन तंत्र में बलगम बनने के कारण होती है. बलगम का निर्माण आम सर्दी, फ्लू, अस्थमा, निमोनिया और अन्य श्वसन पथ संक्रमणों का परिणाम हो सकता है. छाती में जमाव के लक्षण छाती में दर्द, घरघराहट खांसी, गले के दर्द, निगलने में कठिनाई, चक्कर आना, अकड़ी हुई छाती और फेफड़ों में कफ शामिल हैं.

छाती में बलगम और सूजन होने पर अपनाये ये घरेलू उपाय, मिनटों में होगा लाभ
image source

हालांकि ज्यादातर लोग छाती में जमाव से पीड़ित होने पर डॉक्टर से सलाह और दवाई लेते हैं, और कुछ घरेलू उपचारों से छाती में जमाव के लक्षणों से राहत पाने में बहुत लाभ मिलता है. हम आपको छाती में जमाव के खिलाफ उपचार करने के लिए कुछ आसान 7 उपाय बता रहे है.

प्याज के रस के साथ शहद

छाती में बलगम और सूजन होने पर अपनाये ये घरेलू उपाय, मिनटों में होगा लाभ
प्याज के रस के साथ शहद image source

हम आपको बता दें कि प्याज में सल्फर और किरेटिन मौजूद होते हैं, जो बलगम के निर्माण को रोकने और छाती में जमाव और दर्द से राहत प्रदान करते हैं. इसमें जीवाणुरोधी गुण हैं जो इन्फेक्शन के प्रसार को रोकने में मदद करते हैं प्याज का एक टुकड़ा पीसकर इसका रस निकालें। प्याज के रस का चम्मच लें, और इसमें शहद की कुछ बूंदों को मिलाएं, और इसे 2 से 3 बार एक दिन उपयोग करें.

नमक और गर्म पानी के गरारे

छाती में बलगम और सूजन होने पर अपनाये ये घरेलू उपाय, मिनटों में होगा लाभ
नमक और गर्म पानी image source

एक गिलास गर्म पानी लें, और इसमें एक चम्मच नमक मिलाएं. इससे 1 से 2 मिनट के लिए, 3 से 4 बार गरारे करें. नमक पानी कफ को ढीला कर देगा और आपकी खांसी को शांत करेगा. यदि आपको लगता है कि कफ आपके गले में आ रही है, तो इसे निगलने के बजाए, इसे बाहर थूकना बेहतर होता है. यदि आप कफ निगल लेते हैं, तो कफ में बैक्टीरिया और गंदगी हो सकती है, जो आपके स्वस्थ होने की गति को धीमा कर देंगे. जब आप कफ को थूकते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप अपने आसपास के लोगों को अपनी बीमारी के कीटाणु फैलाने से बचें.

 

गर्म पानी के साथ शहद और नींबू का रस

छाती में बलगम और सूजन होने पर अपनाये ये घरेलू उपाय, मिनटों में होगा लाभ
गर्म पानी के साथ शहद और नींबू का रस image source

शहद एक प्राकृतिक डिकंजेस्टेन्ट है, और नींबू में मौजूद विटामिन-सी आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करेगा. इस मिश्रण को गर्म पीने के साथ पीने से आपके गले और फेफड़ों में जीवाणु इन्फेक्शन का प्रसार रोकने में मदद मिलेगी और आपकी छाती में जमे बलगम को ढीला करने में मदद मिलेगी. एक गर्म गिलास पानी में नींबू के रस का एक छोटा चम्मच और शहद का एक छोटा चम्मच मिलाएं, और इस मिश्रण को दिन में 2-3 बार पिएं.

नीलगिरी तेल 

छाती में बलगम और सूजन होने पर अपनाये ये घरेलू उपाय, मिनटों में होगा लाभ
नमक और गर्म पानी के गरारे image source

भाप में गहरी सांस लेने से आपको बंद नाक से राहत मिलेगी और आपकी छाती में जमाव को कम करने में भी मदद मिलेगी. नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदों को गर्म पानी में मिलाएं और भाप के रूप में इस्तेमाल से आपको बेहतर परिणाम मिलेगा, क्योंकि नीलगिरी के तेल में एनाल्जेसिक गुण और जीवाणुरोधी गुण होते हैं. गर्म पानी से स्नान करने और आपके फेफड़ों में गहराई से गर्म पानी की भाप लेना भी सहायक होता है. आप अपने वायुमार्ग को शुष्क होने से रोकने के लिए, अपने कमरे में एक ह्यूमिडिफायर का उपयोग भी कर सकते हैं.

 

अदरक वाली चाय

छाती में बलगम और सूजन होने पर अपनाये ये घरेलू उपाय, मिनटों में होगा लाभ
अदरक वाली चाय image source

अदरक आपके श्वसन पथ में सूजन को कम करने और जमी बलगम को कम करने में मदद करता है. आप कच्चे रूप में अदरक चबा सकते हैं, या आप अदरक के कुछ टुकड़े पीस सकते हैं, और इसे 10 मिनट के लिए पानी में उबाल कर 2 से 3 बार ये उबला हुआ पानी पी सकते हैं. अच्छे परिणामों के लिए आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं.

 

 

loading...