आरएसएस ने फिल्म पद्मावत को रिलीज नहीं करने को लेकर भंसाली की दी धमाकेदार चेतावनी

189

22 जनवरी, 2018 : जैसा कि हम सभी इस बात को जानते हैं कि देशभर में फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर भयंकर विवाद चल रहा है. ऐसे ही एक और विवाद खड़ा हो गया है. ‘राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ’ (आरएसएस) भी पद्मावत को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि यह फिल्म रिलीज नहीं होनी चाहिए.

आरएसएस

मिली जानकारी के अनुसार संघ ने फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर कहा है कि संघ के अंदर एक मात है और संघ के पदाधिकारियों को इस मामले को लेकर किसी भी तरह की बयानबाजी करना ठीक नहीं है. ऐसा करने से संघ अपने मूल उद्देश्यों से भटकता है. साथ ही आपको यह भी बता देते हैं कि फिल्म पद्मावत से लोगों को भावनाओं को दुःख पहुंचेगा. इसलिए इस तरह की कोई भी फिल्म रिलीज नहीं होनी चाहिए. इसके साथ ही आपको यह भी बता देते हैं कि आरएसएस ने कहा है कि अगर फिल्म पद्मावत के निर्माता ही इसको रिलीज होने से रोक लें तो अच्छा होगा. इस देश में भी शांति बनी रहेगी.

फिल्म पद्मावत

 

क्षेत्रीय संघ चालक ने कहा- हां हम नहीं चाहते कि फिल्म रिलीज हो

आरएसएस संघ के क्षेत्रीय संघ चालक (उत्तर-पश्चिम) ‘भगवती प्रसाद’ ने कहा है कि फिल्म पद्मावत को लेकर पूरे भारत में विवाद फैला हुआ है. आपको बता दें कि इस फिल्म को लेकर राजपूत ही नहीं कई समाज भी यही चाह रहे हैं कि यह फिल्म रिलीज ना हो और संघ भी यही चाहता है कि यह फिल्म रिलीज ना हो. हम इस बात को नहीं चाहते कि महासती और ‘श्रद्धा स्वरूप महासती रानी पद्मिनी’ को मात्र कल्पना के आधार पर इस फिल्म में दिखाया जाये.

भगवती प्रसाद

भगवती प्रसाद ने कहा है कि हम चाहते हैं कि फिल्म निर्माता ‘संजय लीला भंसाली’ खुद ही इसको रिलीज होने से रोक लें. साथ ही यह भी कहा है कि इतिहास के साथ आखिर किसिस तरह की छेड़छाड़ क्यों? उन्होंने कहा कि इतिहास की अपुष्ट घटनाओं को लेकर ऐतिहासिक तथ्यों के साथ दिखाना, जिसमें पात्रों और जगहों के भी फिल्म में वही दिखाए गये हैं, इस तरह से नहीं करना चाहिए.

Loading...