विश्व प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर की टूटी 800 साल पुरानी परंपरा! अवैध तरीके से मंदिर में कर दिया…

10

The world-famous Sabarimala Temple’s broken 800 years old tradition! Women entered the temple (केरल) : “सबरीमाला मंदिर” में महिलाओं के प्रवेश को लेकर एक चौंका देने वाली खबर आई है. जिसके बाद देशभर में हलचल पैदा हो गई है. सूत्रों की माने तो 2 जनवरी की सुबह दो महिला भक्तों ने सबरीमाला मंदिर में भगवान अयप्पा के दर्शन करके 800 साल पुरानी परंपरा तोड़ दी.

विश्व प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर की टूटी 800 साल पुरानी परंपरा! अवैध तरीके से मंदिर में कर दिया...
सबरीमाला मंदिर

जानकारी के अनुसार जिन दोनों महिलाओं ने सबरीमाला में दर्शन किए हैं. उनकी पहचान ‘बिंदु’ और ‘कनकदुर्गा’ के रूप में हुई है. इन दोनों महिला भक्तों ने सुबह 3:45 बजे मंदिर में जाकर दर्शन किया. आपको याद दिला दें कि सितंबर 2018 में ‘उच्चतम न्यायालय’ ने 10 से 50 वर्ष की आयु की महिलाओं को ‘भगवान अयप्पा स्वामी’ के मंदिर में जाने की अनुमति दे दी थी. दरअसल भगवान अयप्पा के भक्तों के विरोध के कारण अब तक एक भी महिला मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकी थी.

आखिरकार लंबे समय से चल रही जद्दोजहद के बाद दो महिलाएं सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने में सफल हो गई. इन दोनों महिलाओं के प्रवेश के बाद वर्षों से चली आ रही परंपरा भी टूट गई और उच्चतम न्यायालय के फैसले को अमल में लाने में केरल सरकार की सफल हो गई. दूसरी तरफ महिलाओं के प्रवेश के बाद सबरीमाला मंदिर को शुद्धिकरण की प्रक्रिया के लिए बंद कर दिया गया है.

सामाजिक कार्यकर्त्ता और पेशे से वकील बिंदु और ‘कनकदुर्गा’ ने कहा है कि उन्होंने पुरुषों के वस्त्र पहनकर मंदिर में प्रवेश करके दर्शन किये. इसके अलावा दोनों महिलाओं के प्रवेश के वक्त दर्जन भर पुलिस कर्मी भी सिविल ड्रेस में उनके साथ उपस्थित रहे.

विश्व प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर की टूटी 800 साल पुरानी परंपरा! अवैध तरीके से मंदिर में कर दिया...
सुप्रीम कोर्ट

सूत्रों की माने तो ‘बिंदु’ पेरिन्थालमन्ना और ‘कनकदुर्गा’ कन्नूर की रहने वाली हैं. इन दोनों की आयु लगभग 40 वर्ष बताई जा रही है. आपको याद दिला दें कि बीते माह भी दोनों महिलाओं ने मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश की थी परंतु भारी विरोध के बीच वह नाकाम रही थी.

हैरानी इ बात यह है कि दोनों महिलाएं एम्बुलेंस द्वारा मंदिर तक पहुंची. दोनों महिलाओं के दर्शन के लिए पुलिस ने पहले से कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किये हुए थे. आपको बता दें कि पुलिस ने दोनों महिलाओं के दर्शन का वीडियो भी जारी किया है. फ़िलहाल अभी राज्य में हाई अलर्ट घोषित किया गया है.

यह भी पढ़े : सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का विरोध!

दूसरी तरफ केरल के मुख्यमंत्री ‘पी. विजयन’ का कहना है कि हमने पुलिस को दर्शन करने की इच्छा रखने वाली महिलाओं को सुरक्षा देने का आदेश दिया था.

विश्व प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर की टूटी 800 साल पुरानी परंपरा! अवैध तरीके से मंदिर में कर दिया...

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को नहीं थी प्रवेश की अनुमति

सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल तक की महिलाएं को जाने के अनुमति है जबकि जो रजस्वला हैं, उनके प्रवेश पर प्रतिबंध है. मान्यता यह है कि भगवान अयप्पा ब्रह्मचारी थे. ऐसे में इस तरह की महिलाओं के मंदिर में जाने से उनका ध्यान भंग होगा. भगवान अयप्पा के भक्तों के लिए मकर संक्रांति का दिन बहुत खास होता है, यही कारण है कि उस दिन यहां सबसे ज़्यादा भक्त पहुंचते हैं.

loading...