अपने ही जाल में फंसी कांग्रेस! ट्विटर पर ये बात कहकर खुद की खोली पोल, ये देखिये..

231

नई दिल्ली : कांग्रेस के लिए एक बार फिर से बड़ी मुसीबत कड़ी हो गई है. इस बार कांग्रेस अपने ही जाल में फंस गई. सूत्रों से जानकारी के अनुसार पता चला है कि बुधवार (21 फरवरी) को कांग्रेस अध्यक्ष ‘राहुल गांधी’ ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पोल पोस्ट किया था.

अपने ही जाल में फंसी कांग्रेस! ट्विटर पर ये बात कहकर खुद की खोली पोल, ये देखिये..
राहुल गांधी

खबर मिली है कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पोल डाला था. इसमें उन्होंने ट्विटर यूजर्स से सवाल करते हुए लिखा था कि ‘क्या वह दूरसंचार विभाग के इस आदेश से खुश हैं कि वह देश में 13 अंकों का मोबाइल नंबर जारी करे’. परंतु ‘दूरसंचार विभाग’ इस तरह से कुछ करने वाली नहीं है. कांग्रेस अपने ही द्वारा किये गये पोल के कारण बुरी तरह फंस चुकी है.

अपने ही जाल में फंसी कांग्रेस! ट्विटर पर ये बात कहकर खुद की खोली पोल, ये देखिये..
दूरसंचार विभाग
 सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पता चला है कि इस आदेश के मुताबिक ‘दूरसंचार विभाग’ मोबाइल नंबर को 13 अंको का नहीं कर रही है बल्कि ‘मशीन टू मशीन’ सिम कार्ड्स के नंबर को 13 अंकों का करने वाली है. जियो के एक सूत्र ने कहा है कि नए आदेश के अनुसार मोबाइल नंबर पर किसी तरह का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ेगा. उधर पार्टी के पोल पर 12,000 ट्विटर यूजर शामिल हुए. आपको बता दें कि कांग्रेस द्वारा किये गये पोल पर काफी लोगों ने अलग-अलग सवाल उठाए.
अपने ही जाल में फंसी कांग्रेस! ट्विटर पर ये बात कहकर खुद की खोली पोल, ये देखिये..

 

मशीन-टू-मशीन नंबर क्या होता है?

जानकारी के अनुसार ‘मशीन टू मशीन’ कनेक्शन का उपयोग इंटरप्राइजेज में किया जाता है. साथ ही आपको बता दें कि इसका उपयोग ट्रैफिक कंट्रोल और रोबोटिक्स में भी होता है. मशीन टू मशीन तकनीक होने के कारण डिवाइस और सेंसर के बीच इंटरनेट के माध्यम से कम्यूनिकेशन होता है. परंतु कांग्रेस इसको लेकर बहुत बड़ी गलती कर गई, जिसकी वजह से उसको ट्विटर पर ट्रोल होना पड़ा.

loading...