चीनी राजदूत से मिलकर राहुल गांधी ने हिन्दुओं के खिलाफ रची ये बड़ी साजिश

288

जुलाई 22, 2017 : कांग्रेस उपाध्यक्ष ‘राहुल गाँधी’ ने चुपके से 8 जुलाई को चीनी दूत से मुलाक़ात की थी. जिसमें उन्होंने इस मुलाक़ात के बारे में किसी को भी कानो कान खबर नहीं दी और इसे मुलाकात को बहुत ही गुप्त तरीके से रखा. राहुल गांधी के साथ उनके जीजा ‘रोबर्ट वाड्रा’ और बहन ‘प्रियंका गाँधी’ भी इस मुलाकात में मौजूद थी.

चीनी राजदूत से मिलकर राहुल गांधी ने हिन्दुओं के खिलाफ रची ये बड़ी साजिश

इस मुलाकात का खुलासा अभी कुछ दिनों पहले ही हुआ था. ये सभी लोग बिना किसी को खबर दिए ‘चीनी राजदूत’ से मिले थे. जब इनकी मुलाकात की जानकारी मीडिया को लगी तो पहले इन्होंने इस खबर को झूठा बताया, लेकिन फिर बाद में मान लिया कि राहुल ने चीनी दूत से मुलाकात की थी.

“राहुल गाँधी” ने सभी को पहले बताया था कि, वे क्रिटिकल मामलों की सूचना लेने के लिए चीनी राजदूत से मिले थे और उनका हक भी बनता है कि सभी मामलों की उन्हें जानकारी हो.

लेकिन अभी-अभी इस बात का खुलासा हो चुका है कि, राहुल गाँधी किस काम से चीनी राजदूत से मिलने गए थे और उन्होंने ‘चीन’ को क्या सन्देश दिया और आपस में दोनों ने मिलकर किस साजिश की शुरुआत की. दरअसल राहुल गाँधी ‘हिन्दू राष्ट्रवाद’ के खिलाफ अभियान को शुरू करने के लिए चीन से मदद मांगने गए थे और चीन ने राहुल की बात मान भी ली है.

आगे पढ़े: चाइना के अख़बारों से खबर मिल रही है कि, भारत और चीन…!

loading...