चुनाव आयोग ने त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में चुनाव की तारीख की घोषित, साथ ही यह भी…

195

18 जनवरी, 2018 : अभी-अभी चुनाव आयोग ने तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है. इन तीनो राज्यों के नाम नागालैंड, मेघालय और त्रिपुरा है. साथ ही यह भी घोषणा कर दी है कि इनके नतीजे कब आयेंगे.

विधानसभा चुनाव

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि त्रिपुरा में 18 फ़रवरी और मेघालय और नागालैंड में 27 फ़रवरी को वोटिंग की जाएगी. साथ ही आपको यह भी बता दें कि इन तीनो राज्यों काउंटिंग 3 मार्च को की जाएगी. चुनाव आयोग द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार तीनो राज्यों में वोटिंग दो चरणों में की जाएगी. चुनाव आयुक्त ‘अचल कुमार ज्योति’ ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि अभी से ही तीनो राज्यों में आचार संहिता लागु हो चुकी है. 

अचल कुमार ज्योति

चुनाव आयोग ने जानकारी देते हुए कहा है कि, नागालैंड, मेघालय और त्रिपुरा में वीवीपैट से चुनाव किये जायेंगे. इसके साथ-साथ आपको यह भी बता देते हैं कि बूथ पर एक-एक ईवीएम में वीवीपैट का मिलान किया जायेगा. इन विधानसभा चुनावों में उम्मीदवारों के लिए खर्च की सीमा 20 लाख रुपये निर्धारित की गयी है.

मिली जानकारी के अनुसार मेघालय में चुनाव की तारीख की घोषणा से पहले ही वहाँ की राजनीति में वाद-विवाद लगातार जारी है, इसका यह कारण है कि सत्तारूढ़ एनपीपी के कई नेताओं ने पार्टी का साथ छोड़कर भाजपा से जुड़ गये हैं. मेघालय में 60 सीटें हैं और यहाँ पर कांग्रेस ने गठबंधन की सरकार बनाई हुई है. ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि कांग्रेस के लिए इस बार रास्ता आसान नहीं होगा.   

वीवीपैट

ऐसा माना जाता है कि मेघालय में कांग्रेस के व्यवहार को देखते हुए यहाँ के लोगों में इसके खिलाफ नकारात्मक भाव फैल हुआ है. इस स्थिति में ‘कांग्रेस’ को यह चुनाव मुश्किल भरा है. जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि त्रिपुरा में 60 सीटों पर होने वाले चुनाव का लिए भाजपा अध्यक्ष ‘अमित शाह’ लगातार रैलियां कर रहे हैं. परंतु आपको यह भी बता दें कि त्रिपुरा में भाजपा की पकड़ मजबूत नहीं है. निर्दलियों की झोली में 13 सीटें ही गई थी. त्रिपुरा की सत्तागढ़ माणिक सरकार इन चुनाव के लिए जी जान से ताकत लगा रही है. 

अमित शाह

अब बात आती है नागालैंड की, यहाँ पर भी 60 सीटें हैं. इस राज्य में वर्तमान सरकार नागालैंड पीपुल्स फ्रंट की बनी हुई है. साथ ही आपको यह भी बता देते हैं कि यहाँ नागालैंड पीपुल्स फ्रंट की सरकार वर्ष 2003 से लगातार बनी हुई है, परंतु इस राज्य में भी चुनाव की कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी.

loading...