दलित समुदाय के लोगों ने अमरेली में हुई युवक की मौत को लेकर दी धर्म परिवर्तन की धमकी

306

अहमदाबाद : दलित समुदाय के एक युवक की  दो सप्ताह पहले न्यायिक हिरासत अचानक मृत्यु होने के मामले में ‘पुलिस’ पर ‘दलित समुदाय’ के लोगों ने निष्पक्ष जांच नहीं करने का आरोप लगाया तथा ‘अमरेली’ जिले के 200 से ज्यादा दलितों ने ‘बौद्ध धर्म’ अपनाने की भी धमकी दी है।

दलित समुदाय के लोगों ने अमरेली में हुई युवक की मौत को लेकर दी धर्म परिवर्तन की धमकी

“अमरेली उप-कारागार” में बंद जिग्नेश सौंदरवा (29) की 15 जून को ‘सदर अस्पताल’ में मृत्य हो गई थी। हालांकि अमरेली पुलिस ने ‘जिग्नेश सौंदरवा’ की हत्या के आरोप में उप-कारागार के चार कैदियों को मंगलवार को हिरासत में लिया,

किंतु दलित समुदाय के सदस्यों के साथ-साथ पीड़ित के परिजनों ने जांच को लेकर नाराजगी जाहिर की और ‘धर्म’ परिवर्तन के लिए फॉर्म लेने जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच गए। पुलिस ने बताया कि अमरेली उप-कारागार में स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आने पर सौंदरवा को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

उसे ‘राजुला’ तहसील के ‘डुंगर’ गांव से ‘गुजरात’ निषेध कानून के तहत गिरफ्तार कर 12 जून को न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। सौंदरवा के परिवार ने पहले शव लेने से इनकार करते हुए घटना की निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की थी। एक दिन के प्रदर्शन के बाद पुलिस और जिला प्रशासन से निष्पक्ष जांच का आश्वासन मिलने के बाद उन्होंने शव ले लिया था।

पुलिस ने इस सिलसिले में कल जेल में बंद चार, अगले पेज पर जारी है..->

loading...