मुंबई हमले के मास्टरमाइंड दाऊद ने किया सबसे बड़ा ऐलान! जिसके बाद भारत समेत कई देशों में मची हलचल

1371

नई दिल्ली : अभी-अभी मुंबई हमले के मास्टरमाइंड अंडरवर्ल्ड डॉन ‘दाऊद इब्राहिम’ ने ऐसा बयान दिया है, जिससे भारत समेत दुनिया के सभी देश दंग रह गये है, सूत्रों के अनुसार प्रसिद्ध वकील ‘श्याम केसवानी’ ने सनसनीखेज दावा करते हुए कहा है कि अंडरवर्ल्ड डॉन भारत आकर सरेंडर करना चाहता है, परंतु उन्होंने साथ ही एक इच्छा भी जताई है कि जो भारत सरकार को सायद मंजूर ना हो. हालांकि वरिष्ठ वकील ‘उज्ज्वल निकम’ ने उनके द्वारा किये गये इस दावे को अफवाह बताते हुए कहा है कि भिखारियों के पास कोई रास्ता नहीं होता.

 
मुंबई हमले के मास्टरमाइंड दाऊद ने किया सबसे बड़ा ऐलान! जिसके बाद भारत समेत कई देशों में मची हलचल
दाऊद इब्राहीम

श्याम केसवानी ने ठाणे न्यायालय के बाहर मीडिया से बातचीत के दौरान कहा है कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद ने भारत आकर सरेंडर करने के लिए कहा है, परंतु साथ ही एक शर्त भी रखी है कि मुंबई की सख्त सुरक्षा वाली ऑर्थर रोड
‘सेंट्रल जेल’ में रखने को कहा है. वरिष्ठ वकील ‘राम जेठमलानी’ ने कुछ साल पहले यही इरादा जताया था परंतु ‘भारत सरकार’ ने उसकी सशर्त वापसी को कोई तरजीह नहीं दी. 
 
मुंबई हमले के मास्टरमाइंड दाऊद ने किया सबसे बड़ा ऐलान! जिसके बाद भारत समेत कई देशों में मची हलचल
सेंट्रल जेल मुंबई

सूत्रों ने जानकारी देते हुए कहा है कि मुंबई पर हमला करने वाले पाकिस्तानी आतंकी ‘अजमल कसाब’ को फांसी की सजा मिलने से लगभग चार साल ऑर्थर रोड जेल में ही रखा गया था. वकील केसवानी की तरह ही लगभग 6 महीने पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष ‘राज ठाकरे’ ने भी रहस्योद्घाटन करते हुए कहा था कि, दाऊद इब्राहीम भारत आना चाहता है और ‘मोदी सरकार’ के साथ समझौता करना चाहता है. साथ ही ठाकरे ने दावा करते हुए कहा था कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद बहुत बीमार है और अपनी अंतिम सांसे भारत में ही लेना चाहता है. 

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड दाऊद ने किया सबसे बड़ा ऐलान! जिसके बाद भारत समेत कई देशों में मची हलचल
नरेंद्र मोदी

दरअसल, उज्जवल निकम ने वकील केसवानी के इस दावे को अफवाह बताते हुए कहा है कि एजेंसियों से वकील के बयान की जांच करानी चाहिए.स साथ ही उन्होंने कहा है कि यह डॉन दाऊद का पुराना तरीका है, परंतु भिखारियों के पास कोई विकल्प नहीं होता. उसके वकील को किसने सूचना दी और यदि वह दाऊद के संपर्क में है तो एजेंसियों को इसकी जांच अवश्य करनी चाहिए.

loading...