होली और जुमे को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने दिया ऐसा धमाकेदार बयान! जिसके बाद मुस्लिम समुदाय में मची खलबली

358

5 मार्च, 2018 : रविवार (4 मार्च) को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ‘योगी आदित्यनाथ’ में फायर ब्रांड हिन्दू नेता की छवि एक बार फिर से देखने को मिली है. प्रीतमनगर स्थित ‘दुर्गा पूजा पार्क’ और नवाबगंज में हुई चुनावी बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी ने इस बार शक्रवार (2 मार्च) को हुई होली और जुमा की नमाज का समय टकराने को लेकर बात हुई. इसके आगे मुख्यमंत्री ने उन्होंने कहा कि शासन की मंशा से ही जुमे पर होली को तरजीह प्राप्त हुई. 

होली और जुमे को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने दिया ऐसा धमाकेदार बयान! जिसके बाद मुस्लिम समुदाय में मची खलबली
योगी आदित्यनाथ

जानकारी के अनुसार हम आपको बता दें कि होली के मौके पर सरकार के कहने के बाद नमाजियों ने भी इस बार जुमे की नवाज का समय बदलकर आगे कर दिया था. जिससे होली खेलने वालों भारतीयों को किसी तरह की दिक्कत ना हो. ऐसा करने के लिए नमाजियों का आभार. उपचुनाव के लिए ‘बसपा’ द्वारा ‘सपा’ को समर्थन दिए जाने के फैसले के बाद हुई चुनावी बैठक में हिन्दू वोटरों को संगठित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि होली के पहले इस बार वे वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से होली की तैयारियों के बारे में जानकारी ली थी. 

होली और जुमे को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने दिया ऐसा धमाकेदार बयान! जिसके बाद मुस्लिम समुदाय में मची खलबली
होली पर्व

जैसा कि हम सभी इस बात को जानते हैं कि साल 2018 में होली का पर्व जुमे के दिन पड़ी. इस बात की जानकारी प्रदेश के अधिकतर जिला प्रशासन की तरफ से भी दी गई. तो होली खेलने के लिए सुबह 11 बजे तक का समय दिया गया. इस बात को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने 11 बजे तक होली खेलने वाली बात पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि, होली तो सिर्फ साल में एक ही दिन आती है. परंतु जुमा तो साल में 52 बार आता है. होली के पर्व को ध्यान में रखकर क्या एक दिन जुमा की नमाज का समय आगे नहीं किया जा सकता.

होली और जुमे को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने दिया ऐसा धमाकेदार बयान! जिसके बाद मुस्लिम समुदाय में मची खलबली
नमाज

होली के पर्व को देखते हुए सरकार ने मुस्लिम धर्म गुरुओं से आग्रह किया गया था कि इस बार नमाज का समय आगे कर दिया जाये. मुख्यमंत्री योगी ने कहा है कि राज्य के इस बार को लेकर मुस्लिमों ने उनका सहयोग दिया. इस बात के लिए उनका आभार है. यह सुशासन का ही उदाहरण है कि मुस्लिमों के सहयोग की वजह से होली और जुमा सकुशल संपन्न हुआ है. 

loading...