23 जुलाई अमावस्या के दिन इनमें से करें कोई 1 उपाय, मिटेंगे कष्ट और होगी सुख की प्राप्ति

143

‘सावन’ के इस पावन महीने की 23 जुलाई को ‘अमावस्या की रात’ है। इस महीने की अमावस्या को हरियाली अमावस्या कहा जाता है। सावन और अमावस्या के योग में पूजा-अर्चना करने से अक्षय फल की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही व्यक्ति के सभी कष्ट दूर होते हैं और भोलेनाथ की कृपा बनी रहती है।

23 जुलाई अमावस्या के दिन इनमें से करें कोई 1 उपाय, मिटेंगे कष्ट और होगी सुख की प्राप्ति

अमावस्या के दिन सुबह शीघ्र उठकर स्नानादि कार्यों से निवृत्त होकर तांबे के लोटे में जल लें। जल में चावल और फूल डालकर सूर्य को अर्पित करें।

इस दिन ‘शिवलिंग’ पर जल, दूध व काले तिल अर्पित करें। इससे सदैव ‘भोलेनाथ’ की कृपा बनी रहती है। गेहूं के आटे की गोलियां बनाकर अमावस्या के दिन मछलियों को खिलाएं।

अमावस्या के दिन ‘भगवान विष्णु’, ‘हनुमान जी’ या भोलेनाथ के मंदिर में ध्वज लगवाएं। मंदिर में जाकर हनुमान जी के सामने चमेली का दीपक प्रज्वलित कर हनुमान चालीसा का पाठ करें। उसके बाद हनुमान जी को लड्डू का भोग लगाएं।

अमावस्या को शनिदेव के लिए, अगले पेज पर जारी है….->

Loading...