अमेरिका ने ईरान को दिया सबसे जोरदार झटका! जिससे भारत को मिलेगा ये बड़ा फायदा

95

America bans Iran, this big advantage will be given to India (वाशिंगटन) : जानकारी अनुसार ‘अमेरिका’ ने ‘ईरान’ को जोरदार झटका दिया है. अमेरिका के इस कदम के बाद ईरान की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. सूत्रों की माने तो सोमवार 5 नवंबर से ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध लागू हो गए.

अमेरिका ने ईरान को दिया सबसे जोरदार झटका परंतु भारत को मिलेगा ये बड़ा फायदा
डोनाल्ड ट्रंप

ध्यान देने वाली बात यह है कि प्रतिबंध के बीच अमेरिका ने भारत सहित आठ देशों को ईरान से तेल खरीदने की छूट दी है. दरअसल यह राहत कुछ समय के लिए ही दी गई है. सोमवार 5 नवंबर को अमेरिकी विदेश मंत्री ‘माइक पोम्पियो’ ने कहा है कि ‘हमने विशिष्ट परिस्थितियों में कुछ देशों को अस्थायी राहत देने का निर्णय किया है.सूत्रों की माने तो अमेरिका द्वारा जिन देशों को राहत दी गई है, उनमें भारत, चीन, ग्रीस, इटली, ताइवान, जापान, तुर्की और दक्षिण कोरिया शामिल हैं.

यह भी पढ़े : आतंकवाद को लेकर अमेरिका की पाकिस्तान को चेतावनी!

दरअसल ‘ट्रंप प्रशासन’ ने इन आठ देशों को बहुत जल्द ईरान से तेल खरीद को पूरी तरह बंद करने को कहा है. इसके आगे पोम्पियो ने कहा है कि 20 देश पहले ही ईरान से तेल खरीदना बंद कर चुके हैं और तेल खरीद में 10 लाख बैरल प्रतिदिन की कमी आई है. हालांकि भारत और चीन की तेल खरीद बंद करने की प्रतिबद्धता के बारे में पूछे जाने पर पोम्पियो ने किसी तरह का कोई जवाब नहीं दिया. भारत और चीन ईरान से कच्चे तेल के बड़े खरीदार हैं.

अमेरिका ने ईरान को दिया सबसे जोरदार झटका परंतु भारत को मिलेगा ये बड़ा फायदा
माइक पोम्पियो

आपको याद दिला दें कि इसी साल मई में अमेरिकी राष्ट्रपति ‘डोनाल्ड ट्रंप’ के बहुराष्ट्रीय परमाणु समझौते से अलग होने का विवादित निर्णय लिया था, ये प्रतिबंध उसी का नतीजा है. इन प्रतिबंधों का उद्देश्य ईरान के तेल आयात में कमी लाना है और मई के बाद से इसमें प्रतिदिन दस लाख बैरल की कमी आंकी गई है. अमेरिका ने ईरान की तेल बिक्री को पूरी तरह से बंद करने का संकल्प लिया है.

अमेरिकी प्रतिबंधों का मजबूती से सामना करेंगे : रूहानी

ट्रंप प्रशासन को उम्मीद है कि अब तक के सबसे कठोर प्रतिबंध ईरान को उसके सामने घुटने टेकने पर मजबूर कर देंगे और उसके बर्ताव को बदल देंगे. जिसके चलते ईरान के राष्ट्रपति ‘हसन रूहानी’ ने कहा है कि ईरान मजबूती से अमेरिका के इन प्रतिबंधों का सामना करेगा.

अमेरिका ने ईरान को दिया सबसे जोरदार झटका परंतु भारत को मिलेगा ये बड़ा फायदा
हसन रूहानी

सोमवार 5 नवंबर को हसन रूहानी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा है कि ‘मैं घोषणा करता हूं कि हम अमेरिका के गैरकानूनी, अनुचित प्रतिबंधों की गर्व के साथ उपेक्षा करेंगे क्योंकि ये अंतरराष्ट्रीय नियमों के खिलाफ जाकर लगाए गए हैं. देश में आर्थिक युद्ध के हालात हैं, हम दमनकारी शक्तियों का सामना कर रहे हैं. मुझे नहीं लगता कि अमेरिका के इतिहास में व्हाइट हाउस में कभी कोई ऐसा शख्स आया हो जो कानून और अंतरराष्ट्रीय समझौते के इतने खिलाफ है.’

ईरान पर लगाए गए प्रतिबंध का इस्रायल ने किया स्वागत

इस्रायल के रक्षा मंत्री ‘एविग्दोर लिबरमैन’ ने ईरान पर अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंधो का इस्राइल ने स्वागत किया है. सोमवार 5 नवंबर को उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘राष्ट्रपति ट्रंप का साहसी फैसला मध्य पूर्व में परिवर्तन लाएगा, जिसका सभी को इंतजार है. अमेरिका के एक फैसले से सीरिया, गाजा, इराक, लेबनान और यमन में ईरान की खाईबंदी को करारा झटका लगा है. धन्यवाद राष्ट्रपति ट्रंप.’ आपको बता दें कि एक दिन पहले ही इस्रायल के प्रधानमंत्री ‘बेंजामिन नेतान्याहू’ ने भी अमेरिका का आभार जहिय किया था.

अमेरिका ने ईरान को दिया सबसे जोरदार झटका लेकिन भारत को मिलेगा ये बड़ा फायदा

अमेरिका के इस फैसले की रूस ने की निंदा

अमेरिका के इस फैसले पर रूस ने कड़ी आलोचना की है. रूस के विदेश मंत्रालय ने आलोचना करते हुए कहा है कि प्रतिबंधों की घोषणा करने का उद्देश्य ‘संयुक्त व्यापक कार्रवाई योजना’ (जेसीपीओए) में शामिल सदस्यों के इस समझौते को बचाने के प्रयासों को कमजोर करना है. यह ‘परमाणु अप्रसार संधि’ (एनपीटी) के लिए जोरदार झटका दिया है. 

loading...