सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर अमित शाह के इस बयान से केरल सरकार की उड़ी नींद

5

Amit Shah gave a big statement about the entry of women in the Sabarimala temple (नई दिल्ली) : अभी-अभी भाजपा अध्यक्ष ‘अमित शाह’ ने ‘सबरीमला मंदिर’ में महिलाओं के प्रवेश को लेकर केरल सर्कार पर निशाना साधा है. जिससे केरल सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. सूत्रों की माने तो मंगलवार 20 नवंबर को उन्होंने ‘केरल सरकार’ पर आरोप लगाते हुए कहा है कि ‘भगवान अयप्पा स्वामी’ के भक्तों के साथ कैदियों की तरह व्यवहार किया जा रहा है.

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर अमित शाह के इस बयान से केरल सरकार की उड़ी नींद
अमित शाह

अमित शाह ने मुख्यमंत्री ‘पिनरायी विजयन’ पर लोगों के विश्वास को कुचलने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा श्रद्धालुओं के साथ मजबूती से खड़ी है. भाजपा अध्यक्ष ने आगे यह भी कहा है कि श्रद्धालुओं को कूड़े के ढेर और सुअरों के रहने की जगह पर रात बिताने के लिए मजबूर किया जा रहा है.

उन्होंने कहा है कि ‘पिनरायी विजयन सरकार जिस तरह ‘सबरीमाला’ के संवेदनशील मामले को ले रही है वह निराशाजनक है। केरल पुलिस युवा लड़कियों, माताओं एवं बुजुर्गों के साथ अमानवीय व्यवहार कर रही है, भोजन, आश्रय और पानी जैसी बुनियादी सुविधाओं के बिना उन्हें कठिन तीर्थ यात्रा के लिए मजबूर कर रही है .’ 

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर अमित शाह के इस बयान से केरल सरकार की उड़ी नींद
सबरीमाला मंदिर

साथ ही भाजपा अध्यक्ष शाह ने कहा है कि केरल सरकार लोगों के विश्वास को कुचलने का प्रयास कर रही थी, परंतु भाजपा हमेशा श्रद्धालुओं के साथ मजबूती से खड़ी रही. हम ‘एलडीएफ’ को लोगों की आस्था कुचलने नहीं देंगे.

यह भी पढ़े : सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का विरोध!

अमित शाह यही नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा है कि अगर ‘पिनरायी विजयन’ यह सोचते हैं कि वे हमारे त्रिशूर जिले के अध्यक्ष के ‘सुरेन्द्रन’ एवं छह अन्य लोगों को गिरफ्तार कर सबरीमला के लिये खड़े लोगों के आंदोलन से पार पा जायेंगे, तो वह गलत सोच रहे हैं. हम अयप्पा श्रद्धालुओं के साथ पूरी तरह से खड़े हैं.

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर अमित शाह के इस बयान से केरल सरकार की उड़ी नींद
पिनरायी विजयम

ध्यान देने वाली बात यह है कि ‘सबरीमला मंदिर’ में महिलाओं के प्रवेश संबंधी ‘उच्चतम न्यायालय’ के फैसले को लागू करने का फैसले के बाद से मंदिर और उसके आसपास के इलाके में  लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

loading...