नीतीश कुमार को साथ लाने के लिए कांग्रेस ने चली चाल! सामने आई ये हैरान देने वाली रणनीति

732

पटना : महागठबंधन को एक बार फिर से खड़ा करने के लिए बिहार की सत्ता में आपसी सौहार्द्र का हवाला देकर बातें सामने आ रही है. सूत्रों से जानकारी के अनुसार कांग्रेस के प्रभारी अध्यक्ष ‘कौकब कादरी’ और राजद के विधान पार्षद ‘संजय प्रसाद’ के बाद अब कांग्रेस नेता ‘सदानंद सिंह’ ने भी राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री ‘नीतीश कुमार’ को उनकी पार्टी में शामिल होने की सलाह दी है. 

नीतीश कुमार को साथ लाने के लिए कांग्रेस ने चली चाल! सामने आई ये हैरान देने वाली रणनीति
सदानंद सिंह

शुक्रवार (30 मार्च) को सदानंद सिंह ने बयान देते हुए कहा कि राज्य में ‘भाजपा-आरएसएस’ को सत्ता के गलत तरीके के उपयोग करने को रोकना बहुत जरुरी है. जिसके लिए एक बार फिर से महागठबंधन का पुनर्गठन होना आवश्यक है. साथ ही सदानंद ने कहा है कि मुख्यमंत्री ‘नीतीश कुमार’ को इस पर गंभीरता से सोचना चाहिए.

इसके आगे सदानंद ने कहा है कि राजू के मुख्यमंत्री नीतीश सियासी मजबूरी के कारण राज्य में हो रहे दंगों के खिलाफ करवाई नहीं कर पा रहे है. साथ ही ‘भागलपुर’ के आरोपी ‘भाजपा’ नेता गिरफ्तार नहीं हो पा रहे हैं और औरंगाबाद में जिस नेता को गिरफ्तार किया था वह भी फरार हो गया है.  

नीतीश कुमार को साथ लाने के लिए कांग्रेस ने चली चाल! सामने आई ये हैरान देने वाली रणनीति
नीतीश कुमार

बिहार में जो भी हो रहा है वह ठीक नहीं है. ऐसी स्थिति में सरकार की नकारात्मक छवि बन रही है और राज्य में हो रही हिंसा की आग लगातार बढ़ रही है. साथ ही सदानंद ने कहा है कि भागलपुर, औरंगाबाद और नालंदा के बाद इस आग की तपिश अब मुंगेर, समस्तीपुर और नवादा तक पहुंच चुकी है. 

कांग्रेसी नेता सदानंद ने आगे कहा है कि वर्तमान में जो भी कुछ राज्य में हो रहा है इससे विकास संभव नहीं है. राज्य में शांति सद्भाव और कानून व्यवस्था किसी शासन की पहली प्राथमिकता होती है. साथ ही सदानंद ने मुख्यमंत्री नीतीश से अपील करते हुए कहा है कि वे सरकार के मुखिया होने के नाते समय की मांग के अनुरूप पूर्व के निर्णय पर पुनर्विचार करें. 

नीतीश कुमार को साथ लाने के लिए कांग्रेस ने चली चाल! सामने आई ये हैरान देने वाली रणनीति
बिहार में हिंसा

नीरज जैसे नेता ही जदयू को डुबा रहे : कादरी

बिहार कांग्रेस के प्रभारी अध्यक्ष ‘कौकब कादरी’ ने कहा है कि नीरज कुमार जैसे नेता ही जदयू को डुबा रहे हैं. इसके आगे उन्होंने कहा है कि जदयू नेता ‘नीरज कुमार’ की टिप्पणी पर कहा है कि महागठबंधन में शामिल होने के लिए नीतीश कुमार निमंत्रण देने वाले वे कौन होते हैं. इसका फैसला आलाकमान को करना है.

नीतीश कुमार को साथ लाने के लिए कांग्रेस ने चली चाल! सामने आई ये हैरान देने वाली रणनीति
कौकब कादरी

साथ ही कादरी ने अपने विचार व्यक्त किये है. वह पार्टी के प्रभारी अध्यक्ष ही नहीं बल्कि साधारण कार्यकर्ता की हैसियत से. कादरी ने नीरज को सलाह दी है कि अगर वह किसी बात को बोलना चाहते हैं तो पहले उसमे वजन डालना सीखे.  अन्यथा उनके जैसे नेता जदयू को डुबो देंगे. 

Loading...