कश्मीर में धारा 35ए और धारा 370 को लेकर फारूक अब्दुल्ला का सामने आया ये देशद्रोही बयान…

423

Farooq Abdullah’s anti-trace statement came out in Kashmir for Section 35A and Article 370 (नई दिल्ली) : अभी अभी जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष ‘फारूक अब्दुल्ला’ ने संसद के बहार ‘धारा 35ए’ और ‘धारा 370’ को लेकर एक चौंकाने वाला बयान दिया है. जिसके बाद देशभर में बवालमच गया है.

 कश्मीर में धारा 35ए और धारा 370 को लेकर फारूक अब्दुल्ला का सामने आया ये देशद्रोही बयान...

उन्होंने कहा कि ‘धारा 35ए और 370 को नहीं हटाना चाहिए. यह हमारी नींव बनाता है. इसे हटाने की कोई आवश्यकता नहीं है. हम हिंदुस्तानी हैं परंतु यह धारा हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं.’

यह भी पढ़े : फारूक अब्दुल्ला ने दिया देशद्रोही बयान!

इससे एक दिन पहले फारुक अब्दुल्ला ने सेंट्रल कश्मीर में पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए घाटी में भेजे गए 10,000 अतिरिक्त सुरक्षाबलों को लेकर सवाल उठाते हुए कहा था कि कश्मीर में एक लाख सुरक्षाबलों को भेजकर यहां डर का माहौल बनाया जा रहा है. साथ ही अब्दुल्ला ने कहा कि राज्य में तुरंत ‘विधानसभा चुनाव’ होने चाहिए. 

कश्मीर में धारा 35ए और धारा 370 को लेकर फारूक अब्दुल्ला का सामने आया ये देशद्रोही बयान...

इसके आगे अब्दुल्ला ने कहा कि सुरक्षाबलों के आने से इस समय शांति का माहौल है. सुरक्षाबलों को यहां भेजने से शक पैदा हो गया है. अद्बुल्ला ने सवाल करते हुए कहा कि आवाम के बीच डर क्यों पैदा किया जा रहा है. अगर यह लोग धारा ’35ए’ हटाते हैं तो उन्हें संविधान की हर धारा को हटाना पड़ेगा. इसके अलावा कहा कि उन्हें फिर से 1947 के दौर में वापस जाना होगा. राजनीतिक दल घाटी में डर का माहौल पैदा कर रहे हैं.

फारुक अब्दुल्ला से पहले ‘पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी’ (पीडीपी) अध्यक्ष ‘महबूबा मुफ्ती’ ने कहा था कि अगर धारा 35ए को हाथ लगाया तो बारूद को हाथ लगाने के बराबर होगा.

कश्मीर में धारा 35ए और धारा 370 को लेकर फारूक अब्दुल्ला का सामने आया ये देशद्रोही बयान...

साथ ही मुफ़्ती ने कहा कि जो हाथ 35ए के साथ छेड़छाड़ करने के लिए उठेगा वो हाथ ही नहीं वो सारा जिस्म जल के राख हो जाएगा. घाटी में सुरक्षा बलों की अतिरिक्त तैनाती को लेकर महबूबा मुफ्ती ने बहुत बार बयानबाजी की है. इस मामले में मुफ़्ती ने कहा कि ‘केंद्र सरकार’ ने घाटी में दहशत पैदा करने के लिए यह फैसला लिया है.

loading...