राष्ट्रगान का अपमान करने वाले देशद्रोहियों को काजोल का करारा तमाचा! SC भी सोचने को हुआ मजबूर

178

11 जनवरी, 2018 – कहने को तो आज देश में एक राष्ट्रवादी सरकार है लेकिन कई सालों से भारत के सिस्टम पर जिहादी, वामपंथी व सेकुलर कुंडली मारकर बैठे हुए हैं. इसमें आज तक कोई बदलाव नहीं आया है क्योंकि आज भी इन लोगों का कब्ज़ा हमारे देश के सिस्टम पर है. हर जगह राष्ट्रवाद और हिन्दू विरोधी कब्ज़ा जमाये हुए हैं.

राष्ट्रगान का अपमान करने वाले देशद्रोहियों को काजोल का करारा तमाचा! SC भी सोचने को हुआ मजबूर

हाल ही में एक राष्ट्रवादी व्यक्ति की याचिका से कोर्ट ने राष्ट्रगान को सिनेमा हॉल में अनिवार्य कर दिया लेकिन इसके बाद कहा कि इसकी जरुरत नहीं है और अपना निर्णय बदल लिया. इसे ही कहते हैं थूक कर चाटना.

यह अपने आप में बहुत ही शर्मनाक है. इसके बाद देशद्रोही बहुत खुश हैं कि अब उनको राष्ट्रगान के लिए खड़े होने की तकलीफ नहीं उठानी पड़ेगी.

राष्ट्रगान का अपमान करने वाले देशद्रोहियों को काजोल का करारा तमाचा! SC भी सोचने को हुआ मजबूर
काजोल देवगन : अभिनेत्री

बॉलीवुड में अधिकतर हिंदू विरोधी ही हैं और फिल्मों के माध्यम से हिंदुत्व का अपमान करते हैं. लेकिन कुछ लोग ठीक भी हैं. इन्हीं अच्छे लोगों में भारतीय फिल्म इंडस्ट्री की बड़ी कलाकार काजोल का नाम भी आता है. काजोल ने खुले दिल से राष्ट्रगान का समर्थन किया है और कहा कि जो देश का सम्मान करता है उसको राष्ट्रगान से कोई समस्या हो ही नहीं सकती है.

राष्ट्रगान का अपमान करने वाले देशद्रोहियों को काजोल का करारा तमाचा! SC भी सोचने को हुआ मजबूर

देशद्रोहियों को करारा जवाब देते हुए काजोल ने कहा कि मैं हमेशा से राष्ट्रगान के लिए खड़ी होती हूँ और आगे भी होती रहूंगी. सुप्रीम कोर्ट चाहे कुछ भी फैसला दे, मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. मैं दिल से राष्ट्रगान का सम्मान करती हूँ, चाहे वो राष्ट्रीय ध्वज हो या राष्ट्रगान, मैं राष्ट्र के प्रतीकों को पूरा सम्मान दूंगी. जो सच्चे दिल से राष्ट्र का सम्मान करता है वो कभी कह ही नहीं सकता कि उसे राष्ट्रगान से दिक्कत होती है.

बॉलीवुड में ऐसे फिल्मबाज भरे पड़े हैं, जो कहते हैं कि राष्ट्रगान पर खड़े होना न होना खुद की इच्छा पर निर्भर करता है. बॉलीवुड देश के लिए बहुत घातक है लेकिन कुछ इसमें काजोल जैसे कुछ देशप्रेमी लोग भी हैं.

Loading...