भारत ने LoC पर तैनात किया इजराइल का सबसे विध्वंसक हथियार ! आतंकी ठिकानों को चुटकियों में कर देगा तबाह

3

नई दिल्ली : आतंकवाद को जड़ से ख़त्म करने के लिए भारत नए हथियारों को अपने बेड़े में शामिल कर अपनी सैन्य ताकत बढ़ा रहा है। इसी कड़ी में अब एक नई मिसाइल को भारतीय सेना में शामिल किया गया है। यह इस्राइल की स्पाइक मिसाइल (Spike Missile) है। आधुनिक तकनीक से बनी इस मिसाइल को टैंक किलर्स (Tank Killers) के नाम से भी जाना जाता है। भारतीय सेना ने पाकिस्तान से सटे नियंत्रण रेखा (LoC) पर स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल की तैनाती की है. जानकारी के मुताबिक मिसाइलों को बंकर बस्टर मोड में इस्तेमाल किया जाएगा. यही नहीं इनका इस्तेमाल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के अंदर आतंकवादी शिविरों और लॉन्च पैड के खिलाफ किया जा सकता है.

भारत ने LoC पर तैनात किया इजराइल का सबसे विध्वंसक हथियार ! आतंकी ठिकानों को चुटकियों में कर देगा तबाह

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत ने इजरायल के साथ 240 स्पाइक मिसाइलों के अधिग्रहण के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जो आमतौर पर सेना में एंटी टैंक मिसाइलों के तौर पर उपयोग किए जाते हैं. इन स्पाइक मिसाइलों की डील बालाकोट स्ट्राइक के बाद हुई थी. बालाकोट स्ट्राइक में भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तान में जैश के आतंकी शिविरों पर हमला कर तबाह कर दिया था.

वहीँ जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान के साथ सरहद पर तनावपूर्ण माहौल चल रहा है. पाकिस्तान की ओर से लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर फायरिंग की जा रही है. पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त राष्ट्र संघ के मंच से युद्ध का राग अलाप चुके हैं. इमरान के अलावा उनके कई मंत्री भी परमाणु युद्ध की धमकी देते रहे हैं.

भारत ने LoC पर तैनात किया इजराइल का सबसे विध्वंसक हथियार ! आतंकी ठिकानों को चुटकियों में कर देगा तबाह
स्पाइक मिसाइल

ऐसे में तनातनी के बीच भारतीय सेना लगातार अपनी ताकत में इजाफा कर रही है. हाल ही में फ्रांस से खरीदा गया राफेल विमान भी भारतीय सेना को मिल गया था. ऐसे में अब स्पाइक मिसाइलों की नियंत्रण रेखा पर तैनाती को पाकिस्तान के लिए बड़ा संदेश माना जा रहा है.

स्पाइक एंटी टैंक मिसाइल की खासियत..
रक्षा मामलों के जानकार राहुल बेदी के मुताबिक स्पाइक एक मानव पोर्टेबल मिसाइल है। यानि लॉन्चर और आदमी दोनों की मदद से इसे दागा जा सकता है। इस मिसाइल की दूसरी खासियत है इसकी मारक क्षमता। इस मिसाइल से 3-4 किलोमीटर की दूरी से हमला किया जा सकता है। इसका मतलब ये हुआ कि दागने वाला सैनिक भी इस मिसाइल के साथ सुरक्षित रह सकता है। ये मिसाइल मैदानी और रेगिस्तानी इलाकों में बॉर्डर पर तैनात सैनिकों के लिए ज्यादा कारगर साबित होते हैं।

loading...