चीन की बर्बादी का जखीरा जल्द पहुंच रहा है भारत! जो पल भर में ही कर देगा चीन का सफाया

304

18 अगस्त, 2017 –  भारत-चीन के बीच विवाद अपनी चरम सीमा पर है. एक तरफ चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है, वहीं दूसरी ओर भारत ने भी चीन को मात देने के लिए पूरी तैयारी कर ली है.

चीन की बर्बादी का जखीरा जल्द पहुंच रहा है भारत! पल भर में ही कर देगा चीन का सफाया

हम सभी जानते हैं इस समय चीन और भारत के बिच तनातनी का खेल चल रहा हैं. चीन आये दिन कोई न कोई कुटील चाल चलने से बाज नही आ रहा इनमे युद्ध की धमकी देना जैसे उसका रोज का काम हो गया हैं.

जहाँ चीन बॉर्डर पर अपने आधुनिक हथियारों की नुमाइश कर भारत पर दबाव बनाने से नही चुक रहा हैं वही भारत के लिए भी एक अच्छी खबर आ रही हैं जिसके बारे में जानकार बता रहे हैं की इस खबर को सुन कर चीन की हालत खराब हो सकती हैं.

जी हां….भारत ने अमेरिका से छह जंगी जहाज खरीदने का सौदा किया हैं, जिससे भारतीय सेना के खेमे में छह AH-64E अपाची हेलिकॉप्टर के आ जाने से भारतीय सेना की ताकत दुगनी बढ़ जाएगी.

अमेरिका की रक्षा अधिग्रहण परिषद ने ये आधुनिक हेलीकाप्टर भारत को बेचने के लिए गुरुवार के दिन मंजूरी दे दी हैं. कीमत का हिसाब लगाया जाये तो इन हेलिकॉप्टर का दाम 4168 करोड़ रूपये लगाया जा रहा हैं. अमेरिका ने भारत और चीन के बीच चल रही तनातनी के बिच भारत को हेलिकॉप्टर बेचने की फैसले पर मुहर लगा दी हैं.

बता दे इससे पूर्व भी भारत सरकार ने अमेरिका और अमेरिका की जानी मानी विमान बनाने वाले कपंनी बोईंग से सन 2015 में 22 अपाचे हेलीकाप्टर खरीदने का करार किया था जिसकी कीमत तीन अरब बताई जा रही हैं. अब यह अपाचे हेलिकॉप्टर भारतीय सेना की शान बढायेगे.

सोशल मिडिया की एक प्रसिद्ध वेबसाइट के अनुसार इन हेलिकॉप्टर को पहले वायुसेना के लिए खरीदने का प्लान बानाया गया था. जैसा की जानकार बता रहे हैं इसन हेलिकॉप्टर के भारतीय सेना के पास आ जाने से सेना की शक्ति में बहुत बढ़ोतरी हो जाएगी.

अमेरिका से  F-35 लड़ाकू विमान भी खरीदेगा भारत..

अमेरिका ने भारत को सबसे महंगा व सबसे खतरनाक F-35 लड़ाकू विमान देने का भी ऐलान किया है. यह बड़ी कामयाबी प्रधानममंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के बाद मिली है. जिससे अब भारत को फायदा मिल रहा है.

चीन की बर्बादी का जखीरा जल्द पहुंच रहा है भारत! पल भर में ही कर देगा चीन का सफाया

भारत में एफ-16 लड़ाकू विमान बनाने के लिए टाटा ग्रुप के साथ करार कर चुकी अमेरिकी एयरोनॉटिकल कंपनी लॉकहिड मार्टिन भारत को उस ग्रुप में शामिल कर सकती है जो ग्रुप अब तक के सबसे खतरनाक फाइटर जेट एफ-35 लाइटनिंग 2 का विकास कर रहा है.

हालांकि, अभी तक इन अटकलों पर अमेरिका ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. मगर जल्द ही अमेरिका से एक सकारात्मक प्रतिकिर्या आने की संभावना नज़र आ रही है. उम्मीद यही है कि जल्द ही एफ-35 भी भारत के पास होगा.

इस जबरदस्त विमान की सबसे खास बात यह है कि यह फाइटर पूरी तरह स्टेल्थ है, यानी आज इस विमान को ना तो कोई रडार पकड़ सकता है और ना ही इन्फ्रारेड सेंसर. इस विमान में आवाज इतनी कम है कि दुश्मन को जब तक इसकी आहट मिलेगी, तब तक यह विमान दुश्मनों को तबाह कर देता है.

भारत-चीन युद्ध की आशंका के बीच अमेरिका ने भारत को पूरा सहयोग करने का वादा किया है. अब भारत भी चीन को धूल चटाने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

 

loading...