टीपू सुलतान की जयंती को लेकर कर्नाटक में मचा बवाल! भाजपा ने कांग्रेस समेत राज्य सरकार पर साधा निशाना

149

Karnataka’s funeral for Tipu Sultan’s birth anniversary! BJP targets state government including Congress (कर्नाटक) : अभी-अभी ‘कर्नाटक’ से एक चौंका देने वाली खबर आई है. जिसके बाद राज्य में बवाल मचा हुआ है. सूत्रों की माने तो कर्नाटक में ‘टीपू सुलतान’ की जयंती मनाने को लेकर सियासी घमासान जारी है. राज्य सरकार द्वारा आयोजित किए जा रहे आयोजन के खिलाफ भाजपा ने पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन कर रही है.

टीपू सुलतान की जयंती को लेकर कर्नाटक में मचा बवाल! भाजपा ने कांग्रेस समेत राज्य सरकार पर साधा निशाना
टीपू सुल्तान

जानकारी के अनुसार आपको याद दिला दें कि ‘टीपू सुल्तान’ 18वीं सदी में ‘मैसूर साम्राज्य’ के शासक थे. इस दौरान शुक्रवार 9 नवंबर को मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपने एक बयान में कहा है कि ‘एचडी कुमारस्वामी’ डॉक्टर की सलाह के मद्देनजर अगले तीन दिन तक किसी आधिकारिक समारोह में शामिल नहीं होंगे. ‘टीपू जयंती’ पर आयोजित प्रमुख समारोह का उद्घाटन उप मुख्यमंत्री ‘जी परमेश्वर’ करेंगे.

दूसरी तरफ भारी विरोध और प्रदर्शन के बीच आम जनजीवन असर पीडीए है. प्रदर्शन को देखते हुए सड़कों पर गाड़ियां नहीं चल रही हैं. आवश्यक कार्यों को लिए लोग अपने घर से बाहर जा रहे हैं, ऐसे में कई जगहों पर सड़कों पर सन्नाटा भी पसरा है. कोडागू और विराजपत सहित कई इलाके प्रभावित हैं.

टीपू सुलतान की जयंती को लेकर कर्नाटक में मचा बवाल! भाजपा ने कांग्रेस समेत राज्य सरकार पर साधा निशाना

स्थिति को देखते हुए कोडागु की डिप्टी कमिश्नर ‘पी आई श्रीविद्या’ ने कहा है कि हमने सुरक्षा के पुख्ता इंतेजाम कर दिए हैं. यदि कोई कानून और व्यवस्था का उल्लंघन करता है तो उसपर पुलिस कड़ी कार्रवाई जाएगी. दूसरी तरफ प्रदर्शन कर रहे विभिन्न समूहों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. तनाव को देखते हुए कोडागु, हुबली और धारवाड़ में धारा 144 लागू कर दी गई है.

यह भी पढ़े : टीपू सुल्तान की जयंती को लेकर भड़के केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े!

ध्यान देने वाली बात यह है कि पार्टी ने सरकार से जश्न समारोह को रद्द करने की अपील करते हुए बेंगलुरू, मैसूर और कोडागू में कई जगहों पर प्रदर्शन किया. ‘जेडीएस-कांग्रेस’ के गठबंधन वाली सरकार का नेतृत्व करने वाले मुख्यमंत्री ‘एचडी कुमारस्वामी’ ने पिछले सप्ताह कहा था कि पिछली कांग्रेस सरकार की नीति को बरकरार रखते हुए 10 नवंबर को ‘टीपू जयंती’ मनाई जाएगी. 

टीपू सुलतान की जयंती को लेकर कर्नाटक में मचा बवाल! भाजपा ने कांग्रेस समेत राज्य सरकार पर साधा निशाना
राहुल गाँधी और एचडी कुमारस्वामी

सूत्रों की माने तो साल 2016 और 2017 में कोडागु में ‘टीपू सुल्तान’ जयंती के दौरान हिंसा की घटनाएं हुई थीं. ध्यान देने वाली बात यह है कि कर्नाटक सरकार ने एलन करते हुए कहा है कि वह ‘भाजपा’ के विरोध के बावजूद इस वर्ष भी 18वीं सदी के मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की जयंती अपने तय कार्यक्रम के मुताबिक ही मनाएगी. भाजपा ने मैसूर के शासक को अत्याचारी करार दिया है.

टीपू जयंती को लेकर केंद्रीय मंत्री ‘अनंत कुमार हेगड़े’ ने कहा है कि एक अत्याचारी के जन्मदिन को मनाए जाने की कोई आवश्यकता नहीं है. इसके आगे उन्होंने कहा है कि टीपू सुल्तान हिन्दू विरोधी थे. इसके अलावा भाजपा प्रवक्ता ‘एस प्रकाश’ ने कहा है कि जब पिछली ‘कांग्रेस सरकार’ ने टीपू जयंती मनाने का फैसला किया था, उस समय उनका काफी विरोध हुआ था.

टीपू सुलतान की जयंती को लेकर कर्नाटक में मचा बवाल! भाजपा ने कांग्रेस समेत राज्य सरकार पर साधा निशाना
अनंत कुमार हेगड़े

इससे पहले टीपू जयंती का ‘येदियुरप्पा’ ने भी कहा था कि ‘हम टीपू जयंती का विरोध कर रहे हैं और लोगों के हित में राज्य सरकार को इसे रोकना चाहिए.’ इसके आगे उन्होंने कहा कि ‘टीपू जयंती मनाने के पीछे सरकार की मंशा केवल मुस्लिम समुदाय को खुश करने की है.’ जिसके बाद इस बात के विरोध में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर किसी ने आधिकारिक कार्यक्रम में रुकावट डालने की कोशिश की तो उसे कानून का सामना करना पड़ेगा.

loading...