शिव नगरी काशी में आखिर क्यों लगे “मोदी-योगी मुर्दाबाद” के नारे? पढ़िये ये चौंका देने वाली सच्चाई…

346

काशी : एशिया के सबसे प्राचीन शहर माने जाने वाले वाराणसी में इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए तोड़-फोड़ की जा रही है। कई पुराने मंदिर एवं मकानों को ध्वस्त किया जा चुका है। विगत 19 दिसंबर को शिव नगरी काशी के रोहित पुर क्षेत्र से मलबे में मिली 150 से भी अधिक शिवलिंगों व मूर्तियों का मामला करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था को चोट पहुंचाने वाला है। इसके बाद कल भी मलबे को उलटने पलटने से पन्द्रह से बीस के बीच मूर्तियाँ निकली हैं जिन्हें लंका थाने में कल से रखी मूर्तियों के साथ आज ले जाकर रखा गया है ।

मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट को लगा झटका! मलवे में सैकड़ों शिवलिंग मिलने से काशी में लगे "मोदी-योगी मुर्दाबाद" के नारे
मलवे में फेंके गए शिवलिंग

जानकारी होने पर स्‍वामी अविमुक्तेशवरा नन्द सरस्‍वती भी मौके पर पहुंचे और अवशेषों की पड़ताल की। कांग्रेस और अन्‍य राजनीतिक दलों के लोगों का भी मौके पर जमावड़ा शुरू होने से प्रशासन के माथे पर अब चिंता की लकीर खिंचने लगी है। पूर्व में भी विरोधी दलों ने एक स्‍वर से सरकार की इस महत्‍वाकांक्षी योजना का विरोध किया था। अब पुन: अवशेषों में मंदिरों और मूर्तियों के निकलने से विरोध के स्‍वर शुरू होने लगे हैं। 

स्‍वामी अविमुक्‍तेश्‍वरानंद ने लंका थाने पहुंच वहां रखे 150 से अधिक शिवलिंग देखे और मुकदमा दर्ज करने को तहरीर दी। कांग्रेस के पूर्व विधायक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके अजय राय व अन्य लोगों की शिकायत के बाद पुलिस ने धारा 295, 153 बी और 427 के तहत मामला दर्ज किया है।

मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट को लगा झटका! मलवे में सैकड़ों शिवलिंग मिलने से काशी में लगे "मोदी-योगी मुर्दाबाद" के नारे

मोदी, योगी और विशाल, ये हैं काशी के काल..

शिवलिंगों की दुर्दशा देखने के बाद स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने मोदी पर सरकार करारा प्रहार करते हुए कहा कि काशी में मंदिरो को तोडा जाना और इतनी बड़ी मात्रा में शिवलिंग व अन्य देव विग्रहों को मलबे में नाले के समीप फेका जाना राम मंदिर आंदोलन से भी बड़ा आन्दोलन है। इसके लिए सभी सनातन हिंदुओं को आगे आना चाहिए अन्यथा भावी पीढी कभी माफ नहीं करेगी। मंदिरों के विध्वंस के जिम्मेदारों को इसका दंड अवश्य मिलेगा। स्वामी श्री ने आगे कहा कि “एक औरंगजेब भी आया था, जिसने विकास के नाम पर मंदिर तोड़े थे. ये सरकार भी उसी तरह का आचरण कर रही है. मोदी योगी पर हल्ला बोलते हुए स्वामी श्री ने नारा दिया “मोदी, योगी और विशाल, ये हैं काशी के काल”

वहीं, कांग्रेस नेता अजय राज ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, धर्म के नाम पर बनी सरकार का असली चेहरा जनता के सामने आ गया है। धर्म के नाम पर वोट लेने वाली सरकार में शिवलिंग नाले किनारे फेंके हुए मिले। इससे और दुखद स्थिति क्या हो सकती है। सीएम योगी को जनता कभी माफ नहीं करेगी।

मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट को लगा झटका! मलवे में सैकड़ों शिवलिंग मिलने से काशी में लगे "मोदी-योगी मुर्दाबाद" के नारे

लगे मोदी योगी मुर्दाबाद के नारे..

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के नाम पर काशी में हो रहे विनाश को देखकर लोगों ने लंका थाने पर जमकर विरोध प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गए व रोष जताते हुए “योगी-मोदी मुर्दाबाद” और “खुद को हिंदू बोल रहे हो, फिर भी मंदिर तोड़ रहे हो” के नारे लगाने लगे.

पीएम नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर को इस घटना से जोरदार झटका लगा है और मोदी सरकार की मंदिर तोड़ने वाली नीति से हिंदू समाज कहीं न कहीं बहुत आहत हुआ है.  

देखिये इस घटनाक्रम का पूरा विडियो..

loading...