नेहरू मेमोरियल हुआ कांग्रेस मुक्त, गृहमंत्री अमित शाह समेत इनको मिली जगह

14

नई दिल्ली : नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी सोसायटी का केंद्र सरकार ने नए सिरे से गठन किया है। इस सोसायटी में पहले से मौजूद कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, कर्ण सिंह और जयराम रमेश को बाहर का रास्ता दिखाया गया है। इस तरह से नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी को पूरी तरह से कांग्रेस मुक्त हो गया है.

नेहरू मेमोरियल हुआ कांग्रेस मुक्त, गृहमंत्री अमित शाह समेत  इनको मिली जगह

कांग्रेस नेताओं की जगह भाजपा नेता अनिर्बन गांगुली, गीतकार प्रसून जोशी और पत्रकार रजत शर्मा को जगह मिली। नेहरू मेमोरियल म्यूजियम और लाइब्रेरी को देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की याद में बनाया गया था।

नेहरू मेमोरियल हुआ कांग्रेस मुक्त, गृहमंत्री अमित शाह समेत  इनको मिली जगह

नेहरू मेमोरियल सोसाइटी का पुनर्गठन
मंगलवार को जारी निर्देश के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके चेयरमैन होंगे जबकि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह वाइस चेयरमैन होंगे। इसके अलावा गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर, केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन, प्रह्लाद पटेल, आइसीसीआर चेयरमैन विनय सहस्रबुद्धे, प्रसार भारती चेयरमैन ए. सूर्यप्रकाश के साथ ही व्यय, संस्कृति और आवास व शहरी मामलों के सचिव इसके सदस्य होंगे।

नेहरू मेमोरियल हुआ कांग्रेस मुक्त, गृहमंत्री अमित शाह समेत  इनको मिली जगह

5 साल का होगा सदस्यों का कार्यकाल
इन सभी सदस्यों का कार्यकाल पांच साल का होगा। इससे पहले केंद्र ने सभी प्रधानमंत्रियों का म्यूजियम बनाने का विरोध करने वाले चार सदस्यों को हटाकर उनकी जगह टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी, विदेश मंत्री एस जयशंकर, भाजपा सांसद विनय सहस्रबुद्धे, आइजीएनसीए के चेयरमैन रामबहादुर राय को सोसाइटी का सदस्य नियुक्त किया था।

loading...