कुंभ मेला 2019 : इन पावन अवसर पर श्रद्धालु अब भी लगा पाएंगे पुण्य की डुबकी…

10

Kumbh Mela 2019: On this unique occasion devotees will still be able to dive in virtue (16 फ़रवरी, 2019) : इस बात को हम भलीभांति जानते हैं कि ‘प्रयागराज’ में ‘कुंभ मेला’ लगा हुआ. कुंभ मेले के दौरान ‘मौनी अमावस्या’ और ‘बसंत पंचमी’ के पावन पर्व प्रमुख शाही स्नान के बाद अभी भी रौनक बाकी है. चलिए आपको बता दें कि माघी पूर्णिमा और महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर भी श्रद्धालु पुण्य की डुबकी लगा सकते हैं. 

कुंभ मेला 2019 : इन पावन अवसर पर श्रद्धालु अब भी लगा पाएंगे पुण्य की डुबकी...

19 फरवरी 2019 — माघी पूर्णिमा 

शास्त्रों के अनुसार प्रयागराज कुंभ में माघ महीने की पूर्णिमा में इस स्नान का विशेष महत्व है. माघ की इसी पूर्णिमा के दिन संगम की रेती पर चलने वाला कल्पवास खत्म होगा. जिसे पूर्ण करने के बाद श्रद्धालु अपने एक महीने की इस साधना का पुण्यफल पाने के लिए संगम में विशेष डुबकी लगाते हैं. आपको बता दें कि ‘मौनी अमावस्या’ की तरह ‘माघ पूर्णिमा’ का स्नान भी पुण्य फल प्रदान करने वाली है.

यह भी पढ़े : अचल सप्तमी को इस प्रकार करें भगवान सूर्यदेव की साधना!

कुंभ मेला 2019 : इन पावन अवसर पर श्रद्धालु अब भी लगा पाएंगे पुण्य की डुबकी...

4 मार्च 2019 — महाशिवरात्रि 

कुंभ नगरी में यह महामेला ‘मकर संक्रांति’ से शुरु होकर ‘महाशिवरात्रि’ के दिन समाप्त होता है. ऐसे में एक पवित्र घड़ी में आस्था की डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं के लिए महाशिवरात्रि का पर्व अंतिम अवसर रहेगा. ‘भगवान शिव’ के इस पावन व्रत के दिन सुदूर कंदराओं, पहाड़ों और दुर्गम स्थानों से निकलकर आनेवाले साधु-संत और माघ मेले में कल्पवास करने वाले कल्पवासी अपने-अपने स्थान को वापस लौट जाएंगे.

loading...